Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Preparations ahead of UP CM Akhilesh Yadav's “Vikas Rath Yatra” from Lucknow
 

'विकास से विजय की ओर', अखिलेश यादव की समाजवादी विकास रथ यात्रा आज से

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:45 IST
(ट्विटर)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विधानसभा चुनाव से पहले अपनी समाजवादी विकास रथ यात्रा का आगाज करने जा रहे हैं. समाजवादी पार्टी में चल रहे पारिवारिक विवाद के बीच अखिलेश की इस रथ यात्रा को काफी अहम माना जा रहा है. चाचा शिवपाल यादव से अखिलेश का विवाद सुर्खियों में रहा है.

सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने अखिलेश की रथ यात्रा में हिस्सा लेने संबंधी सवालों पर कहा, "मैं पांच नवंबर को सपा के रजत जयंती समारोह की तैयारियां कर रहा हूं. अगर तीन नवंबर को रथ यात्रा है, तो पांच नवंबर को सपा का सिल्वर जुबली कार्यक्रम है."

शिवपाल यादव ने साथ ही कहा, "पार्टी कार्यकर्ताओं को समाजवाद का इतिहास पढ़ना चाहिए. पार्टी में अनुशासन होना बहुत जरूरी है. 24 अक्तूबर को जिन लोगों को बैठक में नहीं बुलाया गया था, वे भी उसमें चले आए."

पहला दिन- लखनऊ से उन्नाव

अखिलेश यादव के करीबी सपा से निष्कासित एमएलसी सुनील यादव ‘साजन’ इस यात्रा के पहले चरण के प्रभारी हैं. साजन ने बताया, "रथ यात्रा की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. रथ यात्रा के दौरान प्रत्येक दो किलोमीटर पर मुख्यमंत्री का स्वागत किया जाएगा और वह विभिन्न स्थानों पर जनता को संबोधित भी करेंगे."

मुख्यमंत्री के काफिले में पांच हजार से ज्यादा वाहन शामिल हैं. रथयात्रा के जरिए अखिलेश की छवि और उनके चेहरे को सर्वमान्य बनाने की कवायद की जा रही है.

लखनऊ से उन्नाव के बीच अखिलेश की रथ यात्रा के 60 किलोमीटर से ज्यादा लम्बे रास्ते पर बैनर और पोस्टर की भरमार है. एक होर्डिंग में लिखा गया है, "शिवपाल कहें दिल से, अखिलेश का अभिषेक फिर से."

इसके साथ ही होर्डिंग और बैनर पर अखिलेश यादव सरकार के कामकाज की तारीफ की गई है. लखनऊ में ला मार्टिनियर ग्राउंड में एक मंच भी बनाया गया है. विकास रथ यात्रा को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं. पहले यह विकास रथ यात्रा तीन अक्तूबर से होनी थी, लेकिन पारिवारिक घमासान के बीच इसको टाल दिया गया था.

5 नवंबर से बीजेपी की परिवर्तन रथ यात्रा

इस बीच पांच नवंबर से भाजपा भी अपनी परिवर्तन रथ यात्रा निकालने जा रही है. हालांकि बीजेपी ने किसी चेहरे को आगे नहीं किया है, लेकिन उसके अभियान के केंद्र में मुख्य रूप से राजनाथ सिंह, कलराज मिश्र, उमा भारती और केशव प्रसाद मौर्य रहेंगे. परिवर्तन यात्रा के रथों पर भी इनकी तस्वीरें दिखेंगी.

सहारनपुर से विधानसभा चुनाव प्रचार का आगाज करते हुए पांच नवंबर से परिवर्तन यात्रा शुरू होने वाली है. इसके रथों (बस) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के फोटो के अलावा ये चार नेता भी नजर आएंगे.

माना जा रहा है कि उमा भारती को पिछड़ा वर्ग में कल्याण सिंह के विकल्प के तौर पर पेश करने की कोशिश की जा रही है. पहली परिवर्तन यात्रा पांच नवंबर को सहारनपुर से शुरू होगी, जबकि दूसरी यात्र छह नवंबर को झांसी से.

तीसरी आठ नवंबर को सोनभद्र और चौथी नौ नवंबर को बलिया से शुरू होगी. इन यात्राओं के लिए चार रथों को तैयार किया गया है. भाजपा के झंडे के रंग में रंगे इन रथों पर पीएम मोदी और शाह के दो बड़े चेहरों के बीच चार और चेहरे हैं.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह और वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र यूपी के बड़े नेताओं में हैं. राजनाथ तो पहले सीएम भी रह चुके हैं. केशव प्रसाद मौर्य प्रदेश अध्यक्ष हैं. जाहिर है अगले दो महीने यूपी में रथयात्रा राजनीति के नाम होंगे.

First published: 3 November 2016, 9:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी