Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Clash between Akhilesh Yadav and Shivpal Yadav supporters near Samajwadi Party office
 

अखिलेश और शिवपाल समर्थकों में मारपीट, रामगोपाल बोले- अखिलेश खुद में एक पार्टी

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 6:41 IST
(एएनआई)

समाजवादी पार्टी के भविष्य के लिए आज का दिन बेहद अहम है. पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में पार्टी के विक्रमादित्य मार्ग स्थित दफ्तर पर बड़ी बैठक बुलाई है. सपा के सभी विधायक, विधान परिषद सदस्य और पूर्व सांसदों के साथ ही पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी भी इसमें शामिल हो रहे हैं.

इस बीच लखनऊ में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव के समर्थक भी सपा के दफ्तर के बाहर बड़ी संख्या में जुट रहे हैं. दोनों नेताओं के समर्थकों में तल्खी भरी हुई है. कार्यालय के बाहर अखिलेश और शिवपाल समर्थकों के बीच भिड़ंत हुई है. सपा दफ्तर के बाहर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है. 

पुलिस की मौजूदगी में अखिलेश और शिवपाल यादव के समर्थकों में मारपीट हुई है. दोनों के समर्थकों ने झड़प के दौरान पुलिस की बैरिकेडिंग तक तोड़ डाली.

इस बीच रामगोपाल यादव के निकाले जाने के बाद उनके बेटे अक्षय यादव ने भी एक चिट्ठी लिखी है. इसमें अक्षय ने कहा है कि शिवपाल यादव की महत्वाकांक्षाओं के बीच में आने की वजह से रामगोपाल को निशाना बनाया गया है.

एएनआई

चुनाव के लिए तैयार

इस बीच प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लखनऊ में पार्टी दफ्तर पर पहुंचे. शिवपाल यादव ने दफ्तर में प्रवेश करने से पहले कहा कि वे चुनाव में जाने के लिए तैयार हैं.

शिवपाल ने कहा, "हम आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी कर रहे हैं. हम लोगों से सीधे मिलेंगे. मुझे ये पता था कि एक दिन यह होगा."

वहीं पार्टी से निकाले जाने के बाद रामगोपाल यादव ने एक निजी चैनल से बातचीत में कहा कि अखिलेश यादव अपने आप में एक पार्टी हैं.

लखनऊ में समाजवादी पार्टी दफ्तर में मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव और शिवपाल यादव तीनों की मौजूदगी में बैठक चल रही है. अखिलेश ने अपने समर्थकों से हंगामा न करने की अपील की है. वहीं शिवपाल ने भी कहा कि समाजवादी कार्यकर्ता हंगामा न करें.

First published: 24 October 2016, 10:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी