Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » I am with Shivpal, Amar Singh helps me otherwise will be in jail says Mulayam Singh
 

नेताजी बोले- 'सपा टूट नहीं सकती, अमर सिंह मेरा भाई, अखिलेश तुम्हारी हैसियत क्या है?'

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 October 2016, 12:04 IST
(फाइल फोटो)

समाजवादी पार्टी अपने अस्तित्व की सबसे बड़ी लड़ाई लड़ रही है. सीएम अखिलेश और शिवपाल के विवाद के बाद पार्टी के पितामह मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में एक बड़ी बैठक बुलाई. सबसे पहले हुआ अखिलेश का भावुक भाषण, इसके बाद बारी आई चाचा शिवपाल की. शिवपाल ने इस दौरान अखिलेश पर खुलकर भड़ास निकाली.

आखिर में मुलायम सिंह यादव की बारी आई, तो वह भी बेहद भावुक नजर आए. भर्राए गले से पार्टी नेताओं को संबोधित करते हुए मुलायम की आंखें भर आईं. इस दौरान मुलायम ने कहा कि अभी वे कमजोर नहीं हुए हैं. साथ ही नारेबाजी करने वालों पर कहा कि इन्हें नहीं पता कि कितनी लाठी खाकर हमने पार्टी बनाई है. नारे लगाने वाले एक लाठी पर उछल जाएंगे. एक नजर सपा सुप्रीमो के संबोधन की अहम बातों पर: 

मुलायम के संबोधन की अहम बातें

1. हमारे परिवार में चल रही तनातनी से बहुत आहत हूं.

2. पार्टी के बहुत संघर्ष करके यहां तक पहुंचे हैं.

3. नारे लगाने वालों को क्या पता हम कैसे लड़े?

4. पार्टी के लिए लाठियां खाई हैं, जेल गए हैं.

5. जो उछल रहे हैं एक लाठी नहीं खा पाएंगे.

6. नारेबाजी करने वालों को पार्टी से निकाल देंगे.

7. शिवपाल यादव आम जनता के बीच के नेता हैं.

8. मैं अभी कमजोर नहीं हुआ हूं. मेरे एक इशारे पर कुछ भी कर देंगे नौजवान

9. अखिलेश यह न समझें कि नौजवान मेरे साथ नहीं हैं

10. एक आवाज लगाऊंगा तो नौजवान खड़े हो जाएंगे.

11. क्या पद मिलते ही आपका (अखिलेश का) दिमाग खराब हो गया.

12. समाजवादी पार्टी टूट नहीं सकती.

13. मैं जानता हूं कि मेरी पार्टी टूट नहीं सकती.

14. मुख्तार अंसारी का परिवार ईमानदार परिवार.

15. उस परिवार से देश के उपराष्ट्रपति आए हैं.

16. प्रधानमंत्री बनने के लिए कोई समझौता नहीं किया.

17. सपा में कुछ लोग हवा में घूम रहे हैं.

18. क्या आप (अखिलेश) जुआरियों-शराबियों की मदद कर रहे हो.

19. अमर सिंह मेरा भाई है. कई बार हमारी मदद की थी.

20. शिवपाल के काम को कभी नहीं भुला सकता.

21. बड़ा नहीं सोच सकता, नेता नहीं बन सकता.

22. आलोचना सह सकते हैं, वहीं रह सकते हैं.

23. शिवपाल और अमर के खिलाफ कुछ नहीं सुन सकता.

24. तुम्हारी (अखिलेश की) हैसियत क्या है, जो उन्हें गाली देते हो.

25. अमर सिंह नहीं बचाते तो मुझे सजा होती. मुझे जेल जाने से बचाया.

26. मैं और शिवपाल अलग नहीं हो सकते.अमर और शिवपाल को नहीं छोड़ सकता.

27. क्या अखिलेश तुम अकेले चुनाव जिता सकते हो.

28. गायत्री प्रजापति बहुत गरीब परिवार से हैं.

29. पीएम मोदी को देखिए, वह समर्पण और संघर्ष से पीएम बने हैं.

30. वह एक गरीब परिवार से हैं और कहते हैं कि अपनी मां को नहीं छोड़ सकता.

First published: 24 October 2016, 12:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी