Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Mulayam Singh Yadav addresses supporters at SP office in Lucknow
 

मुलायम: अगर अखिलेश ने मेरी बात नहीं सुनी तो मैं उनके ख़िलाफ़ लड़ूंगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 January 2017, 14:59 IST
(फाइल फोटो)

मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ के 19 विक्रमादित्य मार्ग स्थित समाजवादी पार्टी के दफ्तर में अपने समर्थकों को संबोधित किया. इस दौरान मुलायम ने एलान किया कि अगर अखिलेश यादव ने उनकी बात नहीं मानी तो वह उनके खिलाफ चुनाव में उतरेंगे. 

मुलायम ने अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, "मैंने तीन बार अखिलेश को बुलाया पर वो एक मिनट के लिए ही आए और मेरी बात शुरू होने से पहले ही चले गए." 

मुलायम ने आगे कहा, "रामगोपाल यादव के इशारे पर मेरा बेटा काम कर रहा है. मैं अपनी पार्टी और उसके चुनाव चिह्न साइकिल को बचाने के लिए पूरी कोशिश कर रहा हूं, लेकिन अगर अखिलेश मेरी बात नहीं सुनते हैं तो मैं उनके खिलाफ चुनाव लड़ूंगा."

'मुस्लिम डीजीपी नहीं चाहते थे अखिलेश'

मुलायम ने समर्थकों और कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि सपा को बचाने के लिए वह उनका साथ दें. इस दौरान मुलायम ने एक चौंकाने वाला बयान दिया है. 

मुलायम ने कहा जनता के बीच संदेश गया है कि अखिलेश मुस्लिम विरोधी हैं. उनकी लिस्ट में मुस्लिम प्रत्याशी भी कम हैं. यहां तक कि मुलायम ने कहा कि अखिलेश यादव मुस्लिम डीजीपी की नियुक्ति के खिलाफ थे. 

मुलायम ने समर्थकों से कहा, "अखिलेश ने मुसलमानों की अनदेखी की है. ये बात मुझे मौलाना ने बताई है. हमने मुस्लिम डीजीपी की वकालत की और उससे भी अखिलेश खुश नहीं थे."

चुनाव आयोग में सपा का विवाद

मुलायम ने इसके साथ ही कहा कि सपा के बारे में चुनाव आयोग जो भी फैसला करेगा वो उन्हें मंजूर है. गौरतलब है कि 13 जनवरी को चुनाव आयोग के दफ्तर में अखिलेश और मुलायम खेमे ने सपा के लिए अपना दावा ठोका था. इस दौरान करीब पांच घंटे चली सुनवाई के बाद चुनाव आयोग ने फैसला सुरक्षित रख लिया था. 

अखिलेश यादव खेमे की तरफ से कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने पैरवी की थी. मुलायम के साथ शिवपाल यादव भी आयोग के दफ्तर में हाजिर हुए थे. जबकि अखिलेश खेमे की तरफ से रामगोपाल यादव, किरणमय नंदा, अक्षय यादव और नरेश अग्रवाल पेश हुए थे.

First published: 16 January 2017, 14:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी