Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Mulayam Singh: SP not alliance any party in UP Election
 

मुलायम सिंह: यूपी चुनाव में सपा नहीं करेगी किसी भी पार्टी से गठबंधन

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 November 2016, 14:39 IST
(कैच)
QUICK PILL
  • सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की संभावनाओं को खारिज कर दिया है.
  • हाल ही में कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ मुलायम और अमर की मुलाकात के बाद महागठबंधन के कयास लगाए जा रहे थे.
  • मुलायम ने पांच सौ और एक हजार के पुराने नोट बंद करने के मोदी सरकार के फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि इससे जनता रोजमर्रा का सामान नहीं खरीद पा रही है.
  • लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुलायम ने कहा कि लोहिया के बाद काले धन के खिलाफ अगर किसी ने लड़ाई लड़ी है, तो वह समाजवादी पार्टी है.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान गठबंधन की अटकलों पर विराम लगा दिया. हाल ही में प्रशांत किशोर से मुलायम की मुलाकात के बाद यूपी में महागठबंधन की सुगबुगाहट उठी थी.

उन्होंने कहा, "यूपी में समाजवादी पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी, समाजवादी पार्टी किसी अन्य पार्टी के साथ कोई गठबंधन नही करेगी. लालू और नीतीश की पार्टी से भी हम किसी तरह का गठबंधन नहीं करेंगे."

उन्होंने कहा, "सपा केवल पार्टियों के साथ विलय करेगी. यदि कोई पार्टी सपा में विलय चाहती है, तो उसके लिए हम हमेशा तैयार हैं. हमने पहले भी विलय किया है."

सपा प्रमुख मुलायम सिंह का यह बयान काफी चौंकाने वाला है, क्योंकि बयान से पहले तक वह गठबंधन की वकालत कर रहे थे.

इसी के मद्देनजर कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर से उनकी और पार्टी महासचिव अमर सिंह की भी वार्ता हुई थी. मुलायम सिंह ने आज मर्जर की बात करके मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल के विलय पर इशारे में मुहर भी लगा दी.

गौरतलब है कि बीते बुधवार को सूबे के सीएम अखिलेश यादव ने कहा था कि अगर गठबंधन होता है तो 300 से ज्यादा सीटें मिलेंगी.

वहीं सीएम अखिलेश ने यह भी कहा था कि ‌गठबंधन के मासले पर दिल्ली में नेताजी की बात भी चल रही है. उन्हें काफी अनुभव है और इस मुद्दे पर वही फैसला लेंगे.

इससे पहले भी अखिलेश ने कहा था कि गठबंधन के मामले में मैं पार्टी प्लेटफॉर्म पर सुझाव दूंगा. चुनाव नजदीक है, पार्टी सारे फायदे-नुकसान को देखकर फैसला लिया जायेगा.

'पांच सौ-हजार के नोट बंद करना गलत'

गठबंधन की राजनीति पर साफगोई दिखाने वाले मुलायम सिंह ने मोदी सरकार के पांच सौ और हजार के पुराने नोट बंद करने के फैसले की कड़ी आलोचना की है.

मुलायम ने मोदी सरकार के इस फैसले को पूरी तरह से गलत बताते हुए कहा कि इससे देश में गंभीर समस्या उत्पन्न हो गई है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुलायम ने कहा, "हम सब कालेधन के खिलाफ हैं. सपा ने भी कालेधन के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी है, लेकिन आनन-फानन में मोदी सरकार के द्वारा नोट बंद करने के फैसले से जनता में भारी अफरातफरी है. इसलिए समाजवादी पार्टी मोदी सरकार को सुझाव देती है यह फैसला कुछ दिनों के लिए टाल दिया जाए."

मुलायम सिंह ने कहा, "हम भी चाहते हैं कि चुनाव में काले धन ‌इस्तेमाल न हो. मोदी ने अचानक नोट बंद कर दिए जिससे सोने के दाम अचानक बढ़ गए. बीजेपी ने कहा था कि विदेश से कालाधन वापस लाएंगे लेकिन उन्होंने झूठ बोला."

सपा प्रमुख ने कहा कि इस फैसले से जनता को दवाइयों सहित जरूरत का सामान नहीं मिल पा रहा है. मुलायम सिंह ने कहा कि बीजेपी केवल यूपी चुनाव देख रही है, जनता को नहीं. नोट बंद होने से देश में गंभीर समस्या उत्पन्न हो गई है.

इस दौरान सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने यह भी कहा कि डॉक्टर राम मनोहर लोहिया के बाद काले धन के खिलाफ अगर किसी ने लड़ाई लड़ी है, तो वह समाजवादी पार्टी है.

First published: 10 November 2016, 14:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी