Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Ram Gopal Yadav: I have written Samajwadi Party Constitution
 

रामगोपाल यादव ने रोते हुए कहा- 'मैंने लिखा है समाजवादी पार्टी का संविधान'

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:41 IST
(एजेंसी)

उत्तर प्रदेश में सत्ताधारी समाजवादी पार्टी से अनुशासनहीनता के आरोप में 6 साल के लिए निष्‍कासित किए गए राज्यसभा सांसद प्रोफेसर रामगोपाल यादव सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि उन्होंने समाजवादी पार्टी का संविधान लिखा था और उन्हीं को पार्टी से निकाल दिया गया.

इस दौरान प्रोफेसर रामगोपाल यादव भावुक होकर रोने लगे. रामगोपाल ने रोते हुए कहा कि जिस व्यक्ति ने पार्टी का संविधान लिखा हो, झंडे का चयन किया हो, चुनाव चिह्न का चयन किया हो, उस व्यक्ति को सपा के रजत जयंती समारोह से ठीक पहले निकाल दिया गया.

उन्होंने कहा कि मैंने जीवन में कभी भी पार्टी के खिलाफ कोई काम नहीं किया. मैं इस पूरे मामले में स्वयं को निर्दोष मानता हूं. मुझे कभी भी मंत्री पद का लोभ नहीं रहा और न कभी रहेगा. मैं तो बस यही चाहता हूं कि यूपी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी अखिलेश के नेतृत्‍व में जनता के बीच जाए.

रामगोपाल ने कहा, "अगर लोगों को लगता है कि मेरे साथ अन्याय हुआ तो लोग मेरा साथ दें." अपना दर्द बयां करते हुए उन्होंने कहा, कौन आदमी नहीं दुखी होगा? मैंने कभी ऐसा कोई काम नहीं किया जो पार्टी के हित के खिलाफ हो. इसके बावजूद मुझे सफाई देना पड़े तो मैं कभी भी ऐसा नहीं कर सकता.

यादव ने आगे कहा कि मैं तो अपने आप को समाजवादी पार्टी का ही मानता हूं क्योंकि सुप्रीम कोर्ट का भी फैसला है कि कोई नेता जिस पार्टी के टिकट से पद में आता है, उस पार्टी से निकाले जाने पर भी पार्टी का सदस्य रहेगा.

रामगोपाल ने कहा है कि पिछले दो महीने से समाजवादी पार्टी से कई नेताओं को असंवैधानिक तरीके से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को नजरअंदाज करके टिकटों का वितरण किया जा रहा है. कई विधायक मुझसे मिले हैं और उनकी मंशा है कि सभी निष्कासित नेताओं की वापसी हो और टिकट वितरण मुख्यमंत्रीजी की देख रेख में हो. चुनाव अखिलेश जी नेतृत्व में लड़ा जाए और वही मुख्यमंत्री का चेहरा भी हो.

First published: 14 November 2016, 3:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी