Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Report: UP voters like Akhilesh on top
 

सर्वे: यूपी में जनता की पहली पसंद अखिलेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 November 2016, 11:45 IST

उत्तर प्रदेश में जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव नजदीक आते जा रहे हैं, सत्ता के चुनावी समीकरण भी बदलते दिख रहे हैं.

समाचार चैनल एबीपी न्यूज और सिसरो के सर्वे के बाद कुछ ऐसी ही तस्वीर बन रही है. इस सर्वे में यूपी के वोटरों ने इस बात को माना है कि सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के पारिवारिक घमासान का फायदा सीधे-सीधे भारतीय जनता पार्टी की झोली में जाएगा.

इसके साथ ही सर्वे में यह बात भी सामने आई है कि बतौर सीएम जनता की पहली पसंद अब भी अखिलेश यादव ही हैं.

एबीपी न्यूज और सिसरो के इस सर्वे में सीएम पद के लिए अखिलेश यादव को जनता ने सबसे ज्यादा 31 फीसदी वोट दिया, वहीं पूर्व सीएम और बीएसपी सुप्रीमो मायावती 27 फीसदी लोगों की पसंद हैं. इसके अलावा बीजेपी के आदित्यनाथ को 24 फीसदी लोगों ने अपना वोट दिया.

अखिलेश की क्लीन इमेज बरकरार

सर्वे में लोगों ने माना कि परिवारिक विवाद के बावजूद भी अखिलेश यादव पाक-साफ छवि के नेता हैं. केवल 16 फीसदी लोगों ने कहा कि परिवार के झगड़े की वजह से अखिलेश यादव की छवि को धक्का लगा है, वहीं 43 फीसदी लोगों की नजर में इस पूरे घटनाक्रम में मुलायम सिंह यादव का प्रभाव पार्टी और परिवार पर कम हुआ है.

जबकि 43 फीसदी मतदाता मानते हैं कि पारिवारिक विवाद से पिता-पुत्र दोनों की छवि में गिरावट आयी है. सर्वे में सबसे ज्यादा फायदा भारतीय जनता पार्टी को मिलता दिख रहा है, तो वहीं बीएसपी भी समाजवादी पार्टी के झगड़े का फायदा उठाती दिख रही है.

सपा के झगड़े से बीजेपी को फायदा

एबीपी न्यूज और सिसरो ने यूपी के मतदाताओं से पूछा कि झगड़े का फायदा किसे मिलेगा? सर्वे के नतीजे फिलहाल बीजेपी के पक्ष में दिख रहे हैं.

सर्वे में बीएसपी बीजेपी से पिछड़ती दिख रही है. बीजेपी को 39 और बीएसपी को 29 फीसदी फायदा मिल सकता है. सबके झगड़े में कांग्रेस को भी फायदा मिलेगा लेकिन वह बेहद मामूली यानी केवल 6 फीसदी है.

सर्वे में लोगों से पूछा गया कि अगला सीएम कौन होना चाहिए तो 31 फीसदी लोगों की पहली पसंद मौजूदा यूपी सीएम अखिलेश यादव दिखे.

परिवार में विवाद के लिए शिवपाल जिम्मेदार

सर्वे में सबसे दिलचस्प बात जो उभर कर आई वो ये है कि 43 फीसदी वोटरों ने समाजवादी परिवार में जारी घमासान के लिए सीधे तौर पर शिवपाल यादव को जिम्मेदार ठहराया है.

यूपी की जनता का मानना है कि इस झगड़े के पीछे गलती शिवपाल यादव की है. जबिक सीएम अखिलेश यादव पार्टी में झगड़े का ठीकरा पार्टी महासचिव अमर सिंह के सिर फोड़ रहे हैं, लेकिन सर्वे में केवल 15 फीसदी वोटर ही मानते हैं कि झगड़े लिए अमर सिंह जिम्मेदार हैं.

एबीपी न्यूज और सिसरो की ओर से यह सर्वे 26 से 28 अक्टूबर के बीच किया गया. सर्वे में यूपी की 5 विधानसभा सीटों पर 1500 लोगों की राय जानी गई. ये त्वरित सर्वे यूरोपियन सोसाइटी फॉर ओपिनियन एंड मार्केटिंग रिसर्च यानी सिसरो के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए किया गया.

First published: 4 November 2016, 11:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी