Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » samajwadi party may deny tickets to already announced candidates
 

उत्तर प्रदेश चुनाव: घोषित उम्मीदवारों का टिकट काटेगी सपा

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 July 2016, 15:46 IST

समाजवादी पार्टी आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कई घोषित उम्मीदवारों का टिकट काट सकती है. पार्टी नेताओं का दावा है कि सपा आने वाले दिनों में घोषित प्रत्याशियों में बड़ा बदलाव कर सकती है. गौरतलब है कि सपा 2012 में हारी हुई ज्यादातर सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर चुकी है.

पार्टी के एक पूर्व प्रदेश महासचिव ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि कुछ जिलों में संगठन में फेरबदल की भी संभावना है. इसके लिए सपा के मंडल प्रभारियों की रिपोर्ट को आधार बनाया जाएगा. इसकी सीधी निगरानी सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव कर रहे हैं.

सपा सूत्रों ने बताया कि अधिकांश प्रभारियों ने पार्टी नेतृत्व को रिपोर्ट सौंप दी है. प्रभारियों ने कई उम्मीदवारों की सक्रियता और कुछ जिलों में संगठन के कामकाज पर भी सवाल उठाए हैं.

2012 के चुनाव में सपा के 224 विधायकों को जीत मिली थी. सपा सूत्रों के मुताबिक प्रभारियों को कई मौजूदा विधायकों के खिलाफ नाराजगी की शिकायतें मिली हैं. इनमें से भी कई विधायकों टिकट काटने की चर्चा है.

गौरतलब है कि सपा ने दो विधानपरिषद सदस्यों को एक-एक मंडल का प्रभारी बनाया है.  इस तरह 36 एमएलसी 18 मंडलों के प्रभारी बनाए गए हैं. इन सभी को 15 दिन में जिला संगठन, उम्मीदवारों और विधायकों की कामकाज के बारे में रिपोर्ट देने को कहा गया था.

सपा पदाधिकारी ने बताया कि उन्होंने अपनी रिपोर्ट पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को सौंप दी है. प्रभारियों की रिपोर्ट पर पार्टी नेतृत्व घोषित उम्मीदवारों, मौजूदा विधायकों के टिकट और संगठन में फेरबदल पर फैसला करेगा.

पिछले लोकसभा चुनाव में सपा सिर्फ 5 सीटें जीतने में सफल रही थी. बीएसपी, बीजेपी और कांग्रेस के आक्रामक चुनाव प्रचार के चलते सपा को अपनी रणनीति में बदलाव करने की जरूरत महसूस हो रही है.

First published: 28 July 2016, 15:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी