Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Rita Bahuguna Joshi joined BJP on thursday, her seven tweets against Modi Government
 

'मोदी का मौन पूरे देश को हिंसा-नफरत में डुबो देगा', बीजेपी की रीता बहुगुणा जोशी के 7 ट्वीट

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:46 IST
(एएनआई)

गुरुवार को उत्तर प्रदेश की सियासत में बड़े घटनाक्रम के तहत पूर्व प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी ने भाजपा का दामन थाम लिया. दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में रीता ने भगवा चोला ओढ़ लिया.

रीता ने इस दौरान कहा कि वो पिछले 24 साल से कांग्रेस में थीं, लेकिन अब वहां रहना संभव नहीं था. इस दौरान रीता बहुगुणा जोशी ने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ में जमकर कसीदे भी कढ़े. रीता बहुगुणा ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धि है. इस सरकार में फैसले लेने की हिम्मत है.  

जिन अमित शाह के बगल में बैठकर रीता बहुगुणा जोशी ने बीजेपी की औपचारिक सदस्यता ग्रहण की, उन्हें भी रीता बहुगुणा ने अक्सर निशाने पर लिया है. एक नजर डालते हैं रीता बहुगुणा जोशी के उन दिलचस्प ट्वीट पर, जिसमें उन्होंने सीधे तौर पर पीएम मोदी और अमित शाह को निशाने पर लिया.

ट्विटर

"अच्छे दिन पांच साल में, दस साल में, नहीं-नहीं 25 साल में. नरेंद्र मोदी और अमित शाह आप लोगों को एक बार बेवकूफ़ बना सकते हो. बार-बार नहीं. आपकी पोल खुल चुकी है."

ट्विटर

"नरेंद्र मोदी सदन ना चलने की शिकायत करते रहते हैं. एक साल में कितने दिन गुजरात विधानसभा आपने चलने दी थी. भाजपा ने कितने दिन लोकसभा चलने दी थी मोदी जी."

ट्विटर

"मुज़फ्फ़रनगर रेप केस का सांप्रदायिकरण करने की कोशिश में भाजपा की बुरी तरह से पोल खुल गई. गंदी राजनीति नहीं चलने वाली." 

ट्विटर

"भारत-पाकिस्तान के रिश्ते बड़े संवेदनशील हैं. उनको निभाने में सावधानी बरतनी पड़ेगी. प्रधानमंत्री की अपनी सोच के आधार पर बात नहीं बनने वाली." 

ट्विटर

रीता ने गुरुवार को कहा कि राहुल गांधी कांग्रेस का नेतृत्व करने के काबिल नहीं हैं. बिहार में महागठबंधन की जीत पर रीता बहुगुणा ने ट्वीट किया था, "राहुल गांधी को बधाई जिन्होंने बिहार में महागठबंधन के गठन में अहम भूमिका निभाई, जिसने बिहार में भाजपा को धूल चटा दी."

ट्विटर

आठ नवंबर 2015 को ही अपने अगले ट्वीट में रीता बहुगुणा ने लिखा, "बिहार की जीत भारत की धर्म निरपेक्ष सोच की जीत है. मोदी का घमंड और बीजेपी-संघ की सांप्रदायिकता को जनता ने नकार दिया."

ट्विटर

19 अक्टूबर 2015 को रीता बहुगुणा ने ट्वीट किया, "मोदी जी के मौन की वजह से गुजरात में नरसंहार हुआ. इस बार उनका मौन पूरे भारत को हिंसा और नफ़रत में डुबा देगा."

First published: 21 October 2016, 2:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी