Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Shivpal Yadav: We will fight UP Assembly polls under leadership of Mulayam Singh Yadav
 

शिवपाल का रामगोपाल पर वार- 'सीबीआई से बचने के लिए बीजेपी के बड़े नेता से मिले'

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 October 2016, 15:52 IST
(एएनआई)

अखिलेश यादव कैबिनेट से बर्खास्तगी के बाद शिवपाल यादव ने पहली प्रतिक्रिया देते हुए सपा महासचिव रामगोपाल यादव पर निशाना साधा है. शिवपाल ने लखनऊ में समाजवादी पार्टी के दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि सीबीआई से बचने के लिए रामगोपाल यादव ने बीजेपी के बड़े नेता से मुलाकात की है. 

हंगामेदार प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान शिवपाल यादव ने कहा कि उन्हें बर्खास्त होने की कोई चिंता नहीं है. नेताजी (मुलायम सिंह यादव) के नेतृत्व में चुनाव में जाएंगे. शिवपाल ने कहा कि जो कुछ भी हो रहा है यह पार्टी को कमजोर करने की साजिश है. 

शिवपाल ने इस दौरान कहा, "नोएडा अथॉरिटी के चीफ इंजीनियर यादव सिंह से जुड़े घोटाले में सीबीआई जांच से बचने के लिए रामगोपाल ने दिल्ली में बीजेपी के बड़े नेता से तीन बार मुलाकात की है. प्रोफेसर रामगोपाल यादव, उनके बेटे अक्षय यादव और पुत्रवधू भी इस घोटाले में शामिल हैं." 

शिवपाल ने साथ ही कहा कि रामगोपाल यादव अक्सर तिकड़म करते रहते हैं. अखिलेश को नहीं पता है कि प्रोफेसर रामगोपाल बीजेपी के साथ मिलकर सपा को कमजोर करने में जुटे हैं.

प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले शिवपाल यादव के समर्थन में जमकर नारेबाजी हुई. सीएम अखिलेश यादव ने आज कालिदास मार्ग स्थित आवास पर सपा विधायकों और मंत्रियों की बैठक बुलाई थी. 

इस दौरान अखिलेश ने तकरीबन 19 मिनट तक पार्टी नेताओं को संबोधित किया. इस दौरान अमर सिंह से अखिलेश ने अपनी नाराजगी का खुला इजहार किया.  अखिलेश ने कहा है कि अमर के करीबी लोगों के लिए कोई जगह नहीं है. इसी दौरान अखिलेश ने शिवपाल यादव समेत चार मंत्रियों को कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया.

First published: 23 October 2016, 15:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी