Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » Sakshi Maharaj: Those give birth to 40 child and do 4 marriage responsible for population growth
 

साक्षी महाराज ने कहा- हिंदू घटा तो देश बंटा, चुनाव आयोग ने DM से मांगी रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 January 2017, 16:10 IST
(पीटीआई)

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में आदेश दिया है कि चुनाव के दौरान जाति और धर्म के नाम पर वोट मांगना गैरकानूनी है, लेकिन राजनेता इससे कोई नसीहत लेते नहीं दिख रहे हैं. भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने उत्तर प्रदेश में एक बार फिर विवादित बयान दिया है. 

उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज अक्सर विवादित बयान देते रहे हैं. उत्तर प्रदेश में चुनाव के एलान के बाद आदर्श आचार संहिता लग चुकी है. इसके बावजूद साक्षी इससे बेफिक्र हैं. मेरठ के शनिधाम मंदिर में साक्षी महाराज कहा," आज मैं फिर कहना चाहता हूं कि हिंदू घटा तो देश बंटा." 

बताया जा रहा है कि कार्यक्रम की वीडियोग्राफी के लिए पहुंचे पुलिस कर्मियों को संतों ने खदेड़ दिया. साक्षी महाराज यहीं नहीं रुके. इस दौरान भाजपा सांसद ने कई विवादित बयान दिए. 

मुस्लिम समाज पर विवादित बयान

साक्षी महाराज ने कहा, "जनसंख्या को लेकर देश में एक सख्त और बढ़िया कानून लाने की जरूरत है, चाहे बच्चा एक हो या चार हो, सबके लिए समान कानून बनाने का समय आ गया है. अगर जनसंख्या बढ़ती चली जा रही है तो इसका जिम्‍मेदार हिन्दू नहीं है." 

साक्षी ने कहा, "बढ़ती जनसंख्या के लिए वो लोग जिम्मेदार हैं, जो चार पत्नियां रखने और 40 बच्चे पैदा करने का समर्थन करते हैं. माता सिर्फ़ बच्चे पैदा करने की मशीन नहीं हैं. चाहे वो हिंदू हो या मुस्लिम, उनका सम्मान किया जाना चाहिए." 

इस दौरान भाजपा सांसद ने तीन तलाक प्रथा को खत्म करने की पैरवी करते हुए केंद्र सरकार से जल्द से जल्द समान नागरिक संहिता को लागू करने की अपील की.

चुनाव आयोग ने मांगा जवाब

साक्षी महाराज के इस बयान पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लिया है. आयोग ने मेरठ के जिलाधिकारी से साक्षी के भड़काऊ भाषण पर रिपोर्ट तलब की है. वहीं विवादित बयान पर सफाई देते हुए साक्षी ने कहा, "जनसंख्या बढ़ रही है , जमीन उतनी ही है. मैंने कहा, औरत मशीन नहीं हैं. 4 बीवी, 40 बच्चे, 3 तलाक नहीं चलेगा."

साक्षी महाराज ने इस विधानसभा चुनाव में भाजपा राम मंदिर के नाम पर वोट नहीं मांगेगी, क्योंकि राम मंदिर कभी भी बीजेपी का मुद्दा नहीं रहा है. साक्षी ने कहा कि राम मंदिर का तीन तरह से फैसला हो सकता है. पहला उच्चतम न्यायालय के फैसले से, दूसरा संसद में सहमति से और तीसरा मुसलमानों द्वारा उदारता दिखाकर. 

साक्षी महाराज इससे पहले भी विवादित बयान दे चुके हैं. पिछले साल 10 दिसंबर को उन्नाव में साक्षी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर विवादित टिप्पणी की थी. साक्षी ने कहा था, "सबके सब मोदी के पीछे पड़ गए हैं. कोई लोकसभा नहीं चलने देते तो कोई राज्यसभा नहीं चलने देता. सड़क पर आकर पप्पू बोलता है कि मैं बोलूंगा तो भूकंप आ जाएगा. तो मैं जाकर सलाह देने वाला हूं कि इसे पकड़ो और कहीं सुरक्षित स्थान पर कैद कर दो. नहीं भूकंप आ गया तो क्या होगा, पार्लियामेंट का क्या होगा. कुछ लोग बुद्धि से पैदल होते हैं. नरेंद्र मोदी ने ऐसी मार मारी है कि उनकी बुद्धि काम नहीं कर रही है." 

First published: 7 January 2017, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी