Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » BJP MP from Gorakhpur Yogi Adityanath's controversial statement before election in West UP
 

अब योगी के बिगड़े बोल- 'वेस्ट यूपी के हालात 1990 के कश्मीर जैसे'

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 January 2017, 10:41 IST
(फाइल फोटो)

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में चुनाव की तारीख नजदीक आने के साथ ही बीजेपी नेताओं की ओर से एक के बाद एक आपत्तिजनक बयानबाजी का सिलसिला जारी है. पहले थाना भवन से विधायक सुरेश राणा और फिर केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री संजीव बालियान ने विवादित बयान दिया. 

इस कड़ी में ताज़ा नाम जुड़ा है, गोरखपुर से भाजपा सांसद और गोरक्ष पीठ के महंत आदित्यनाथ का. आदित्यनाथ ने एक चुनावी सभा के दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हालात की तुलना 1990 के कश्मीर से कर दी. 

'पश्चिमी उत्तर प्रदेश असुरक्षित'

आदित्यनाथ ने कहा, "जब दोनों जगहों की स्थिति को देखता हूं तो मैं बीच में पश्चिमी उत्तर प्रदेश को बड़ा असुरक्षित महसूस करता हूं. पूर्वी उत्तर प्रदेश में हमें खतरा इसलिए नहीं क्योंकि वहां पर जो लोग जैसी भाषा समझते हैं उनको उसी भाषा में जवाब देकर के हम ठीक कर देते हैं." 

पढ़ें: BJP विधायक: मैदान मार लिया तो कैराना, देवबंद और मुरादाबाद में कर्फ्यू लग जाएगा मित्रों

बीजेपी सांसद ने आगे कहा, "लेकिन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मुझे अफसोस होता है देखकर के...इसलिए अफ़सोस होता है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जब यहां के सामाजिक ढांचे को देखता हूं यहां की डेमोग्राफी को देखता हूं तोे मुझे इस बात का भय होता है कि 19 जनवरी 1990 में कश्मीर में हिंदुओं को सामूहिक पलायन करना पड़ा था. सामूहिक कत्ले-आम हुआ था. मां-बहनों की इज़्ज़त के साथ सरेआम खिलवाड़ हुआ था. और इस प्रकार का दृश्य हम लोगों ने कहीं और देखे हैं तो नजदीक से आज हम वह बंगाल में महसूस कर रहे हैं, या पश्चिमी उत्तर प्रदेश में महसूस कर रहे हैं."

'कैराना और कांधला उदाहरण'

योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा, "कैराना और कांधला उसका उदाहरण हैं. और कोई ऐसा क्षेत्र नहीं. आख़िर यह दुस्साहस नहीं तो क्या. एक यादव नौजवान छेड़खानी की किसी घटना का विरोध करता है और पुलिस मौन रहती है और बाद में उस नौजवान की हत्या हो जाती है. और आज तक कार्रवाई नहीं हुई." 

पढ़ें: केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान बोले- 'मुलायम के मरने का समय, सपा दफ़न हो जाएगी'

आदित्यनाथ इससे पहले भी कई बार विवादित बयान दे चुके हैं. वेस्ट यूपी के 15 जिलों की 73 विधानसभा सीटों पर 11 फरवरी को वोट डाले जाएंगे. योगी के बयान को चुनाव से पहले सीधे तौर पर ध्रुवीकरण की कवायद से जोड़कर देखा जा रहा है.

First published: 31 January 2017, 10:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी