Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » UP Election: SP Chief Mulayam declared name of 325 candidates, ignores akhiles's well wishers
 

टिकटों के बंटवारे में अखिलेश हुए चित, बाहुबलियों, दाग़ियों को टिकट

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 December 2016, 16:22 IST
(फ़ाइल फोटो )

जिस वक़्त समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव पार्टी कार्यालय पर 325 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की, ठीक उसी समय मुख्यमंत्री अखिलेश यादव झांसी में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे. 325 उम्मीदवारों की यह लिस्ट बताती है कि टिकटों के बंटवारे में अखिलेश यादव की हार हुई है. मुलायम सिंह यादव और अखिलेश विरोधी लॉबी के हावी होने के चलते उनके क़रीबियों का टिकट कट गया है. 

325 उम्मीदवारों की लिस्ट में अखिलेश समर्थक मंत्री पवन पाण्डेय, रामगोविन्द चौधरी और अरविन्द सिंह गोप का नाम नहीं है. पवन पाण्डेय को प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने एमएलसी आशु मलिक के साथ कथित दुर्व्यवहार के कारण पार्टी से निकाल दिया था. उनकी जगह पार्टी ने पुराने नेता जय शंकर पाण्डेय के लड़के आशीष पाण्डेय को अयोध्या से टिकट दिया है. आशीष और पवन आपस में कजिन हैं. 

इसी तरह रामगोविंद चौधरी का टिकट बांसडीह से कट गया है. उनकी जगह नीरज सिंह को टिकट मिला हैं. गोप का टिकट रामनगर से कट कर नौ साल बाद पार्टी में लौटे बेनी प्रसाद वर्मा के लड़के राकेश वर्मा को मिला है.

कानपुर कैंट से अतीक अहमद और मोहम्मदाबाद से मुख़्तार अंसारी के भाई सिबगतुल्लाह अंसारी को टिकट दिया गया है. मगर अखिलेश इन्हें टिकट नहीं देना चाहते थे. भाजपा विधायक विजय बहादुर यादव को गोरखपुर ग्रामीण से टिकट दिया गया है. 

अखिलेश ने जिन मंत्रियों को हटाया था उनमे से राज किशोर सिंह और ओम प्रकाश सिंह को टिकट दिया गया हैं. राज किशोर सिंह के भाई ब्रिज किशोर को भी टिकट दिया गया है. बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी के भाई हसनुद्दीन सिद्दीकी का भी नाम इस लिस्ट में शामिल है. 

इसी तरह मुलायम की बहु अपर्णा यादव लखनऊ कैंट से लड़ेंगी. मंत्री आज़म खान के बेटे अब्दुल्लाह आज़म भी स्वार सीट से अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत करेंगे. 

अभी तक कुल 325 टिकट की लिस्ट जारी करी गयी है. इसमें 176 सिटिंग सपा विधायकों की सीटें शामिल हैं. 78 सीटों पर टिकट बाद में दिया जायेगा. कुल 4200 लोगों ने टिकट के लिए अप्लाई किया था. 

इस लिस्ट में अखिलेश का भी नाम नहीं है. मुलायम ने कहा है कि वो जहां से चाहें, चुनाव लड़ सकते हैं.

मुलायम सिंह ने यह भी कहा है कि इस लिस्ट में अब कोई फेरबदल नहीं होगा. 

First published: 28 December 2016, 16:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी