Home » उत्तर प्रदेश चुनाव » uttar pradesh:dalit BJP mp chhote lal kharwar write a letter to pm modi for complain cm yogi
 

BJP के दलित सांसद ने पीएम मोदी को लेटर लिख बताया, योगी ने शिकायत करने पर डांट कर भगाया

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 April 2018, 17:37 IST

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ बीजेपी के दलित सांसदों की नाराजगी बढ़ती जा रही है. सावित्रीबाई फुले के बाद रॉबर्ट्सगंज से बीजेपी सांसद छोटेलाल खरवार भी योगी प्रशासन से नाराज चल रहे हैं. खरवार ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर अपना दर्द बयां किया हैं. इसमें कहा गया है कि यूपी प्रशासन ने जबरन उनके घर पर कब्जा कर उसको जंगल की मान्यता दे दी है. जब वो इसकी शिकायत सीएम योगी से करने के लिए पहुंचे, तो उन्होंने खरवार को डांटकर भगा दिया.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सांसद खरवार ने पत्र लिखकर पीएम मोदी से प्रदेश सीएम योगी, अध्यक्ष महेंद्र पांडेय और संगठन मंत्री सुनील बंसल की शिकायत की है. खरवार ने कहा है कि जिले के अधिकारी उनका उत्पीड़न कर रहे हैं. इसको लेकर उन्होंने सीएम योगी से दो बार मिलकर शिकायत की थी, लेकिन सीएम योगी ने उनको डांटकर भगा दिया.

बीजेपी सांसद छोटेलाल खरवार ने अपने पत्र में दो शिकायत की हैं. उन्होंने कहा है कि मैंने साल २०१५ में नौगढ़ वन क्षेत्र में अवैध कब्जे की जमीन की शिकायत तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सहित कई लोगों से की थी. लेकिन अधिकारियों ने आरोपियों पर कार्रवाई करने की जगह उलटा मेरे घर को ही वन क्षेत्र में शामिल कर दिया. जब राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के आदेश पर दोबारा जांच में मेरा घर वन क्षेत्र में नहीं आया.

इसके साथ ही दूसरी शिकायत में हथियारों के दम पर धमकी दिए जाने की शिकायत की है. यह मामला योगी सरकार बनने के बाद है. सांसद खरवार ने कहा है कि अक्टूबर 2017 में सपा ने मेरे भाई के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था. इसके बाद वोटिंग के दौरान अपराधी तत्व के लोगों ने मेरी कनपटी पर रिवॉल्वर रखकर मुझे गाली दी, जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया गया. इस दौरान वहां पर अधिकारी भी मौजूद थे, लेकिन अपराधियों के खिलाफ कोई कार्रवाई  नहीं की गई.

इसके साथ ही आजतक से बात करते हुए खरवार ने कहा है कि सपा बसपा के लोगों ने मेरे भाई को ब्लॉक प्रमुख के पद से हटवा दिया. हमारे ऊपर हमले किए गए. विरोधियों ने मेरे कान पर पिस्टल लगा दी, लेकिन पुलिस ने अपराधियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की, इसकी शिकायत मैंने थाने से लेकर डीजीपी तक की. किसी ने सुनवाई नहीं की.

उन्होंने आगे कहा कि मैं इसको लेकर सीएम योगी से भी मिला, लेकिन मेरे साथ गलत व्यवहार किया गया. मेरा टिकट काटने की साजिश की जा रही है. मैं अनुसूचित जाति मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष हूं, मेरे साथ ऐसा सुलूक हो सकता है, तो किसी के साथ भी ऐसा हो सकता है. लेकिन मैं पार्टी नहीं छोड़ूंगा. बीजेपी मेरी भी पार्टी है.मुझे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और पीएम मोदी पर पूरा भरोसा है. जल्दी सबकुछ ठीक हो जाएगा.

First published: 5 April 2018, 17:31 IST
 
अगली कहानी