Home » उत्तर प्रदेश » 500 quintals mango wood for 9 days to ‘curb pollution’ in Bhainsali ground of Meerut city
 

'9 दिन तक 500 क्विंटल आम की लकडियां जलाकर ख़त्म होगा प्रदूषण'

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 March 2018, 13:12 IST

वाराणसी के लगभग 350 ब्राह्मण मेरठ शहर के भैंसाली ग्राउंड में रविवार सुबह नौ दिन के 'महायज्ञ' के शुरू होने पर इकट्ठा हुए, जिसमें वे प्रदूषण को कम करने के लिए 500 क्विंटल आम की लकड़ी जलाएंगे. श्री अयुतचंदी महायज्ञ समिति के सदस्यों द्वारा आयोजित इस यज्ञ में 125 × 125 वर्ग फुट यज्ञशाला और 108 हवन कुंड बनाये गए हैं.

समिति के उपाध्यक्ष गिरीश बंसल ने कहा, 'हमने यह लकड़ी यज्ञ कुंड में डालने के लिए खरीदी हैं. सभी 108 हवन कुंडों में गाय के घी के साथ इसे जलाया जाएगा.

उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (यूपीपीसीबी) ने इस मामले में हस्तक्षेप करने से इनकार किया है. क्योंकि यह किसी विशेष धर्म से संबंधित है. मेरठ में यूपीपीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी आर के त्यागी ने कहा, "इतनी बड़ी मात्रा में लकड़ी जलाकर निश्चित रूप से प्रदूषण होगा लेकिन ऐसी कोई नीति नहीं है. जिसके तहत इस मामले में जांच के आदेश दिए जाएं''.

त्यागी ने कहा, यह मेरे लिए घटना पर टिप्पणी करने के लिए भी अनुचित होगा." उनका कहना है कि भगवा वस्त्र पहने हुए, हिंदू निकाय के सदस्य, जिसमें कुछ 16 वर्ष की आयु के युवा हैं अग्नि कुंड के चारों ओर बैठे हैं, स्थल में धुंआ भरने से उनकी आँखें लाल हो गई हैं.

त्यागी का कहना है कि हिंदू धर्म में मान्यता है कि यज्ञ से वातावरण साफ होता है. इस बारे में कोई वैज्ञानिक साक्ष्य इसलिए नहीं हैं क्योंकि इस बारे में अब तक कोई शोध नहीं किया गया है.'

ये भी पढ़ें : योगी के मंत्री का भाजपा पर वार- 325 सीटों के नशे में पागल होकर घूम रहे हैं

First published: 19 March 2018, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी