Home » उत्तर प्रदेश » After Kairana lost yogi minister laxmi narayan chaudhary says our supporters are on summer vacation
 

कैराना उपचुनाव हार पर योगी के मंत्री की अजब दलील- गर्मी की छुट्टी मनाने गए समर्थक इसलिए हारे

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 June 2018, 10:16 IST

हाल ही में उत्तर प्रदेश के कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में भाजपा को हार झेलनी पड़ी है. कैराना लोकसभा सीट पर गठबंधन का उम्मीदवार तो नूरपुर विधानसभा सीट पर सपा का उम्मीदवार विजयी हुआ है. इन हारों को लेकर अब योगी सरकार के मंत्री और विधायक अलग-अलग तरह का बचाव कर रहे हैं. भाजपा सरकार के मंत्रीगण उपचुनाव की हार को एक दूसरे नजरिए से देख उस पर पर्दा डाल रहे हैं.

कैराना-नूरपुर उपचुनाव में हार को लेकर योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने अजीबोगरीब बयान दिया है. उन्होंने कहा कि भाजपा के समर्थक बच्चों के साथ गर्मी की छुट्टियां मनाने बाहर चले गए. इसकी वजह से पार्टी को हार का सामना करना पड़ा. चौधरी ने कहा कि उपचुनाव और आम चुनाव में बहुत बड़ा फर्क होता है. उपचुनाव के मुकाबले आम चुनाव में ज्यादा लोग हिस्सा लेते हैं. गर्मी की छुट्टियां होने की वजह से हमारे समर्थक और वोटर बच्चों के साथ बाहर घूमने चले गए. इसलिए हम दोनों सीट पर हार गए. 

वहीं योगी सरकार का कोई मंत्री उपचुनाव की हार को 'लौ बुझने से पहले तेज जलती है' के नजरिए से देख रहा है. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय ने कैराना और नूरपुर के चुनाव परिणामों पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा, "विकास की राजनीति पर थोड़े समय के लिए फतवों व जातिवादी, सिद्धान्तविहीन राजनीति भारी पड़ी है."

डॉ. पाण्डेय ने कहा, "यद्यपि वहां के स्थानीय समीकरण चुनौतीपूर्ण थे परंतु फिर भी हमने कैराना लोकसभा में दो विधानसभाओं में कथित गठबंधन को हराया, लेकिन तीन विधानसभाओं में कहां कमियां रह गईं, साथ ही नूरपुर में भाजपा को कथित गठबंधन के बावजूद विधानसभा चुनाव के मुकाबले 11 हजार वोट अधिक प्राप्त हुए, लेकिन फिर भी कुछ वोटों के अंतर से चुनावी नतीजे हमारे अनुकूल नहीं रहे, हम इसकी गहन समीक्षा करेंगे, तदनुसार आगे की रणनीति एवं कार्ययोजना बनाएंगे."

उन्होंने कहा कि भाजपा ने विकास और किसान कल्याण की राजनीति तथा अपनी योजनाओं के प्रसार के साथ जनता के मध्य सकारात्मक राजनीति की है, वहीं विपक्ष झूठ और फतवों की नकारात्मक साम्प्रदायिक प्रवृत्ति की राजनीति के साथ चुनाव में था, लेकिन झूठ और फतवों की राजनीति ज्यादा दिन नहीं चलेगी. जनता 2019 के आम चुनाव में मोदी जी को पुन: प्रधानमंत्री बनाकर विपक्ष की नकारात्मक राजनीति को अवश्य जवाब देगी.

पढ़ें- दिल्ली: 2019 में मोदी को हराने के लिए हाथ मिला सकते हैं केजरीवाल और राहुल

इसी तरह योगी सरकार के राज्यमंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने इस संबंध में ट्वीट कर कहा है कि कैराना में जीत जातिवाद एवं संप्रदायवाद की जीत है जो तात्कालिक है. मोदी जी ने नारा दिया जातिवाद मुक्त, संप्रदाय मुक्त भारत का और जनता काम कर रही है. लेकिन लौ बुझने से पहले तेज जलती है, उप चुनाव का परिणाम भी यही है.

First published: 2 June 2018, 10:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी