Home » उत्तर प्रदेश » Akhilesh yadav said 'Those who were roaming around the country and campaigning for BJP, could not save their seats'
 

'जो देशभर में घूमकर भाजपा के लिए प्रचार कर रहे थे, वह खुद अपनी सीट नहीं बचा सके'

न्यूज एजेंसी | Updated on: 25 March 2018, 16:32 IST

गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव की पृष्ठभूमि में समाजवादी पार्टी (सपा) अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को कहा कि इन चुनावों ने पूरे देश को एक संदेश दिया है कि अगले लोकसभा चुनाव में भाजपा को परास्‍त करना सम्‍भव है.

अखिलेश ने कहा, “मैं उपचुनाव में सपा को मिली जीत को बहुत बड़ी मानता हूं, क्‍योंकि उनमें से एक सीट मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और दूसरी सीट उप मुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने छोड़ी थी. जो लोग (योगी) देश भर में घूम-घूमकर भाजपा के लिये प्रचार कर रहे थे, वे अपनी ही सीट नहीं बचा सके.

इससे पूरे देश में संदेश गया है और कार्यकर्ताओं और आम लोगों के बीच यह विश्‍वास जागा है कि अगर भाजपा को उसके गढ़ में पराजित किया जा सकता है तो कहीं भी हराया जा सकता है.” राज्‍यसभा चुनाव में सपा के समर्थन वाले बसपा प्रत्‍याशी की पराजय के बारे में अखिलेश ने कहा कि सत्‍ता और धनबल का दुरुयोग तो भाजपा का चरित्र है.

राज्‍यसभा चुनाव में यह फिर उजागर हो गया। चुनाव में एक दलित उम्‍मीदवार के खिलाफ भाजपा की साजिश की वजह से अगले चुनावों के लिये सपा और बसपा का गठबंधन और मजबूत हुआ है. मैं मायावती जी को धन्‍यवाद देता हूं.

 

आगामी लोकसभा चुनाव के लिये सपा की रणनीति के बारे में पूछे जाने पर पार्टी अध्‍यक्ष ने कहा कि बूथ स्‍तर पर मजबूत प्रबन्‍धन करने के अलावा पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा गया है कि वे गांव-गांव जाकर आम लोगों से संवाद स्‍थापित करें.

उन्‍होंने कहा “मैं खुद, हमारे नेता और हमारे कार्यकर्ता सभी जगह पहुंचेंगे. वे उन्‍हें मेरे मुख्‍यमंत्रित्‍वकाल में शुरू कराये गये जनकल्‍याणकारी कार्यों के बारे में याद दिलाएंगे और मौजूदा भाजपा सरकार की उससे तुलना करने को कहेंगे.भाजपा ने अनेक वादे किये लेकिन उनमें से एक को भी पूरा नहीं किया. लोगों में भाजपा के प्रति गुस्‍सा है और उपचुनावों में वही नाराजगी सामने आ गयी.”

First published: 25 March 2018, 16:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी