Home » उत्तर प्रदेश » Allahabad High Court asks state govt counsel Why has the MLA not been arrested yet?
 

उन्नाव गैंगरेप केस: हाईकोर्ट ने पूछा- क्यों नहीं हुई MLA की गिरफ्तारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 April 2018, 14:27 IST

उन्नाव गैंगरेप केस में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार से जवाब मांगा है. हाईकोर्ट ने पूछा है कि गैंगरेप के आरोपी भाजपा विधायक को कब गिरफ्तार करेंगे. हाईकोर्ट ने योगी सरकार के वकील से पूछा कि विधायक को गिरफ्तार करेंगे भी या नहीं?

इसके अलावा हाईकोर्ट ने यूपी सरकार द्वारा गठित एसआईटी से भी जवाब मांगा है. हाईकोर्ट ने एसआईटी से पूछा कि विधायक पर कब तक कार्रवाई होगी? दरअसल, उन्नाव गैंगरेप केस के आरोपी BJP विधायक कुलदीप सेंंगर के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है. लेकिन अभी तक विधायक की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

गैंगरेप की पीड़िता ने भी विधायक की गिरफ्तारी की मांग की है. पीड़िता का कहना है कि विधायक की गिरफ्तारी न होने से वह मामले को प्रभावित कर सकता है. इसके अलावा पीड़िता ने अपने चाचा के जान का भी खतरा बताया. पीड़िता ने कहा कि मामले को सीबीआई को सौंप दिया गया है लेकिन जब तक विधायक को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा तब तक मामले में कुछ नहीं हो सकता.

गौरतलब है कि इस मामले की जांच के लिए यूपी सरकार ने अब सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं. मामले की जांच के लिए गठित स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम की रिपोर्ट के आधार पर प्रदेश सरकार द्वारा विधायक व अन्य के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज करने और पूरे मामले की सीबीआई जांच कराने का आदेश दिया गया है.

पढ़ें- उन्नाव गैंगरेप केस: BJP विधायक कुलदीप सेंगर के खिलाफ दर्ज हुई FIR, सीबीआई जांच के आदेश

इस पूरे मामले की जांच उत्तर-प्रदेश सरकार द्वारा गठित एसआईटी कर रही है. इसके अलावा उन्नाव ज़िला अस्पताल के CMS और इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर को भी सस्पेंड कर दिया गया है. वहीं ठीक से इलाज नहीं करने के आरोप में तीन डॉक्टरों के ख़िलाफ़ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू करने के आदेश दिए गए हैं. सफीपुर के सीओ को भी सस्पेंड करने का आदेश दिया गया है.

First published: 12 April 2018, 14:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी