Home » उत्तर प्रदेश » Allahabad High Court Judge Rang Nath Pandey wittern a letter to PM Modi
 

हाईकोर्ट के जज ने पीएम मोदी को लिखा खत, जजों की नियुक्ति को लेकर उठाए ये सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 July 2019, 12:11 IST

इलाहाबाद हाई कोर्ट के न्यायाधीश रंग नाथ पांडे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा है. जिसमें जस्जिस पांडे ने हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में जज की नियुक्ति को लेकर सवाल उठाते हुए गंभीर आरोप लगाए हैं.उन्होंने इस पत्र में हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में न्यायधीशों की नियुक्तियों में भाई-भतीजा और जातिवाद का आरोप लगाया है.

पीएम मोदी के लिए लिखे गए इस पत्र में जस्जिस पांडे ने लिखा है कि, "नियुक्तियों में कोई निश्चित मापदंड नहीं है, इस समय केवल परिवारवाद और जातिवाद चल रहा है. इस पत्र में आगे लिखा है कि भारतीय संविधान भारत को एक लोकतांत्रिक राष्ट्र घोषित करता है, तथा इसके तीन में से एक सर्वाधिक महत्वापूर्ण न्यायपालिका दुर्भाग्यवश वंशवाद व जातिवाद से बुरी तरह ग्रस्त है. यहां न्यायधीशों के परिवार का सदस्य होना ही अगला न्यायधीश होना सुनिश्चित करता है."

उन्होंने अपने पत्र में आगे लिखा कि, "राजनीतिक कार्यकर्ता का मूल्यांकन उसके कार्य के आधार पर चुनावों में जनता के द्वारा किया जाता है. प्रशासनिक अधिकारी को सेवा में आने के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की कसौटी पर खरा उतरना होता है." 

उन्होंने पत्र में लिखा कि, "अधीनस्थ न्यायालयों के न्यायाधीशों को भी प्रतियोगी परीक्षाओं में योग्यता सिद्ध कर ही चयनित होने का अवसर मिलता है. उन्होंने लिखा कि, हाई कोर्ट व सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों की नियुक्ति का हमारे पास कोई मापदंड नहीं है. प्रचलित कसौटी है तो केवल परिवारवाद और जातिवाद."

छेड़खानी रोकने के लिए सरकारी स्कूल का अजीबोगरीब फरमान, 3-3 दिन स्कूल आएं लड़के और लड़कियां

First published: 3 July 2019, 12:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी