Home » उत्तर प्रदेश » Allahabad High Court said - Kafeel Khan should be made immediately, order to remove NSA
 

हाईकोर्ट ने कहा- 6 महीने से जेल में बंद कफील खान को तुरंत रिहा किया जाये, NSA हटाने का भी आदेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 September 2020, 13:12 IST

इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने मंगलवार को गोरखपुर के डॉक्टर कफील खान (Dr Kafil Khan) को तुरंत रिहा करने और उनके ऊपर से राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) हटाने का आदेश दिया है. डॉ कफील पर नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) कानून को लेकर भड़काऊ भाषण देने का आरोप लगाया गया था. कफील खान पर अलीगढ़ के डीएम ने नफरत और भड़काऊ भाषण देने के आरोप में एनएसए लगाया था.

खान को मथुरा से गिरफ्तार किया गया था और तबसे वह जेल में बंद थे. अदालत ने खान पर रासुका  लगाने और उसका समय बढ़ाने को भी गैर - कानूनी बताया है. इलाहबाद हाईकोट ने 28 अगस्त को सुनवाई पूरी होने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था.


मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर और न्यायमूर्ति सौमित्र दयाल सिंह की अध्यक्षता वाली पीठ, खान की मां नुजहत परवीन द्वारा दायर एक बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई कर रही थी. अपनी याचिका में परवीन ने कहा कि उनके बेटे को फरवरी में जमानत दी गई थी, लेकिन रिहा करने से पहले उसके खिलाफ एनएसए लगाया लगाया गया. परवीन ने कहा कि उन्हें जमानत दिए जाने के चार दिन बाद भी रिहा नहीं किया गया था, इसलिए उनकी नजरबंदी अवैध है.

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि अलीगढ़ के डीएम द्वारा 13 फरवरी, 2020 को पारित किया एनएसए कार्रवाई का आदेश पूरी तरह से गैर-कानूनी है. अदालत ने कहा डॉ. कफील को पुलिस हिरासत में रखने की अवधि को बढ़ाया जाना भी गैर-क़ानूनी है. खान 6 महीने से जेल में थे, उन्हें पहले 3 महीने तक हिरासत में रखा गया था, बाद में उनकी हिरासत को 3 महीने बढ़ा दिया गया था. नेशनल सिक्योरिटी एक्ट 1980 की धारा 3 (2) के तहत 13 फरवरी 2020 को डॉ कफील खान को अलीगढ़ के डीएम के आदेश पर जेल में रखा गया था.

Coronavirus Update : 24 घंटे में 70000 के करीब नए मामले, जानिए किस राज्य में सबसे ज्यादा सक्रिय मामले

First published: 1 September 2020, 12:59 IST
 
अगली कहानी