Home » उत्तर प्रदेश » Allahabad is now Prayagraj, Yogi government changed its name after 444 years later
 

444 साल बाद योगी सरकार को क्यों पड़ी इलाहाबाद का नाम 'प्रयागराज' रखने की जरूरत?

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 October 2018, 19:06 IST

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज कर दिया है. देश के धार्मिक, शैक्षिक और राजनीतिक लिहाज से महत्वपूर्ण शहर अब प्रयागराज के नाम से जाना जाएगा. योगी सरकार ने आज से 444 साल पहले मुगल सम्राट अकबर द्वारा प्रयागराज से इलाहाबाद नाम किए जाने के बाद फिर से इसका नाम प्रयागराज कर दिया. 

पिछले शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि मार्गदर्शक मंडल की बैठक में हर तबके खासकर अखाड़ा परिषद, प्रबुद्ध वर्ग से एक प्रस्ताव आया है. उन्होंने कहा कि यह प्रस्ताव इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने के लिए आया है. इसके बाद ही इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने की बात की जा रही थी, जिसे अब कैबिनेट की मंजूरी मिल गई है.

 

बता दें कि तुलसीदास द्वारा रचित रामचरित मानस में इस शहर को प्रयागराज कहा गया है. रामचरित मानस के अनुसार, भगवान राम ने जंगल जाते वक्त प्रयाग में भारद्वाज ऋषि के आश्रम पर होते हुए गए थे. तब प्रयागराज का वर्णन हुआ था. वहीं मत्स्य पुराण में भी इसका वर्णन है. मत्स्य पुराण में लिखा गया है कि प्रयाग प्रजापति का क्षेत्र है जहां गंगा और यमुना बहती है. इसलिए उसका नाम प्रयागराज पड़ा था. 

 

लेकिन ऐतिहासिक प्रमाणों के मुताबिक साल 1574 में अकबर ने यहां से दीन-ए-इलाही धर्म चलाया था. अकबर ने तब इस शहर में किले की नींव रखी थी. जिसके बाद नया शहर बसाया और नाम इलाहाबाद रखा गया. आजादी के बाद पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी के समक्ष भी नाम इलाहाबाद का नाम बदलने की मांग की गई थी. लेकिन तब सरकार ने इसका नाम वही रहने दिया था.

पढ़ें- #MeToo: एमजे अकबर से मिलने के बाद अमित शाह से क्यों मिलने पहुंचे NSA अजीत डोभाल?

जब 2017 में कई सालों बाद राज्य में बीजेपी की सरकार आई और योगी आदित्यनाथ यूपी के सीएम बने तब इलाहाबाद का नाम बदलने की मांग जोरों से उठने लगी थी. साल 2017 के चुनावी प्रचार में BJP ने भी कहा था कि उत्तर प्रदेश में पार्टी की सरकार आई तो वह इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर देंगे. इसके बाद जब सरकार आई तो कई संतों ने उन्हें उनके वादे को याद दिलाया तो मुख्यमंत्री ने इसको अमली जामा पहनाने की शुरुआत कर दी और इसका नाम बदल दिया.

First published: 16 October 2018, 19:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी