Home » उत्तर प्रदेश » Anurag Tiwari's death case-It has been decided that investigation will be transferred to CBI:Arvind Kumar,Principal secy Home on IAS officer
 

IAS अनुराग तिवारी की मौत की होगी CBI जांच, करने वाले थे बड़ा खुलासा!

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 May 2017, 11:41 IST

IAS अनुराग तिवारी की मौत की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई करेगी. योगी सरकार ने अनुराग तिवारी की जांच सीबीआई से कराने का फैसला किया है. यूपी सरकार के इस कदम का कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने भी स्वागत किया है.

सोमवार को यूपी के गृह सचिव अरविंद कुमार ने मीडिया को बताया कि यूपी सरकार IAS अनुराग तिवारी की रहस्यमयी मौत की सीबीआई जांच के लिए तैयार है. उन्होंने कहा कि जल्द ही इस मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश की जाएगी. मृतक अनुराग के भाई मयंक तिवारी की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ इंडियन पीनल कोड के सेक्शन 302 (हत्या) के तहत केस दर्ज किया है.

अनुराग के परिवार का आरोप 

आईएएस अधिकारी अनुराग के परिवार वालों ने सोमवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और लखनऊ के हजरतगंज थाने में जाकर एफआईआर दर्ज करवाई. 

अनुराग तिवारी की मां ने आरोप लगाया है कि उनका बेटा ईमानदार था, लेकिन उस पर कर्नाटक में गलत काम करने का दबाव बनाया जाता था.

अनुराग के भाई मंयक ने पुलिस को बताया कि उनके भाई ने कर्नाटक में किसी बड़े घोटाले को उजागर करने की बात बताई थी. इसके साथ ही अनुराग ने ये भी कहा था कि जो जांच वो कर रहा है, उसमें कई बड़ी मछलियां भी फंसेंगी. 

संदिग्ध हालात में मौत

17 मई को अनुराग तिवारी की लाश संदिग्ध हालत में मिली थी. पोस्टमॉर्टम जांच में ये सामने आया था कि आईएएस अनुराग तिवारी की मौत दम घुटने की वजह से हुई थी. लेकिन उनके भाई मयंक तिवारी ने बताया कि जिस जगह से उनकी डेड बॉडी मिली थी, वहां पर उस तरीके से किसी की मौत नहीं हो सकती, साथ ही अनुराग के फोन से भी छेड़छाड़ की गई थी.

दस साल के करियर में आईएएस अनुराग तिवारी का 7-8 बार तबादला किया गया था. परिवार वालों का कहना था कि राज्य पुलिस की जांच में उनको विश्वास नहीं है. सीबीआई जांच के आश्वासन से परिवार खुश है.

First published: 23 May 2017, 11:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी