Home » उत्तर प्रदेश » ASI Found 4000 years old Chariots During Excavationg in Baghpat Uttar Pradesh
 

भारत के इस शहर में मिले 4000 साल पुरानी सभ्यता के अवशेष, महाभारत से है गहरा संबंध

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 June 2018, 17:05 IST

यूपी के बागपत में आर्कियॉलजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) को 4000 साल पुरानी सभ्यता के अवशेष मिले हैं. जानकार इस सभ्यता को मेसोपोटामिया की सभ्यता जैसा समृद्ध बता रहे हैं. क्यों कि एक खेत में जमीन से सिर्फ 10 सेंटीमीटर नीचे कांस्य युगीन सभ्यता के अवशेष मिले हैं.

ASI के अधिकारियों का कहना है कि हम बागपत बागपत के सादिकपुर सनौली गांव में खुदाई कर रहे हैं. इस इलाके में इतनी प्राचीनतम सभ्यता मिलना हैरान करने वाला है. अधिकारियों का कहना है कि इसमें भी सबसे बड़ी बात तो यह कि इस इलाके में खुदाई में शाही कब्रों का एक समूह मिला है. इस सभ्यता को महाभारत काल से भी जोड़कर देखा जा रहा है. क्यों कि महाभारत काल में पांडवों के मांगे 5 गांवों में बागपत भी शामिल था.

खुदाई का काम देख रहे एएसआई अधिकारी डॉ एस के मंजुल का कहना है कि अभी तक जो तथ्य मिले हैं उसे देखकर लगता है कि यह 4000 साल पुराना रहा होगा. यानी लगभग 1800 से 2000 ईसा पूर्व का.

खुदाई में कब्रें और अंतिम संस्कार के साक्ष्य भी मिले हैं. जिनमें पहली बार ताबूत में रखी पुरानी कब्रें मिली हैं. तमाम कब्रें लकड़ी के ताबूत में बंद हैं. इनकी दीवारों पर तांबे की प्लेटिंग है, जिस पर तमाम तरह की आकृतियां उकेरी गई हैं.

 

वहीं ताबूत में तांबे की कीलों का इस्तेमाल किया गया है. इसके पास ही एक गढ्ढे में दो रथ, ताबूत के सिरहाने में मुकुट जैसी चीज के अवशेष भी मिले हैं. जमीन से मिले ताबूत के पास तीन तलवारें, दो खंजर, एक ढाल, एक मशाल और एक प्राचीन हेलमेट भी प्राप्त हुआ है.

खुदाई के दौरान एक महिला का कंकाल भी मिला है, जिसका ताबूत पूरी तरह से गल चुका है. इस महिला के सिरहाने एक सोने का बीड के साथ चांदी का कुछ सामान, सींग का बना कंघा और एक तांबे का आइना भी है

ASI अधिकारियों के मुताबिक साल 2005 में इसी जगह से 120 मीटर की दूरी पर एक कब्रगाह मिली थी, जिसमें से लगभग 116 कब्रें मिली हैं. उन कब्रों के पास भी तलवारें आदि मिली थीं. अधिकारियों का कहना है कि ये कब्रें शायद योद्धाओं की रही होगी. जिन्हें शाही होने से इनकार नहीं किया जा सकता. बताया जा रहा है कि पूरे भारतीय उपमहाद्वीप में यह पहला मामला है, जहां पूरा रथ मिला है. बता दें कि इसके पहले कहीं भी कोई रथ नहीं मिला था.

ये भी पढ़ें- प्लेन में शख्स ने बैठे-बैठे कर दिया कई यात्रियों को बेहोश, करानी पड़ी इमरजेंसी लैंडिंग

First published: 5 June 2018, 17:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी