Home » उत्तर प्रदेश » ATMs search on Google Map and attempte loot, 8 gang members arrested by UP police
 

हाइवे पर Google Map से खोजते थे एटीएम और फिर ऐसे देते थे लूट को वारदात

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 March 2018, 11:19 IST

उत्तर प्रदेश के कानपुर से यूपी पुलिस ने एटीएम लूटने वाले गैंग के 8 सदस्यों को गिरफ्तार किया. इस गिरोह में दो महिलाएं भी शामिल हैं. शहर के चकेरी इलाके में हाल ही में तीन एटीएम काटकर 15.62 लाख रुपये लूटने वाले इस गैंग का पर्दाफाश किया गया. इस गैंग के सदस्य शातिर अंदाज़ में गूगल मैप पर हाइवे के एटीएम देखकर लूट की वारदात को अंजाम देते थे.

कानपुर के पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि आरोपी मेवात के कुख्यात कुरैशी और रत्ती गैंग के बदमाश हैं. गिरफ्तार बदमाशों से 2.5 लाख रुपये रिकवर किए गए हैं. ये यूपी, बिहार, हरियाणा, झारखंड, महाराष्ट्र और कर्नाटक तक वारदात करते थे. गूगल मैप पर हाइवे किनारे बने एटीएम की पहचान के बाद ऐसे बूथ चुने जाते हैं, जहां गार्ड नहीं होते हैं.

ये भी पढ़ें- मायावती का मोदी सरकार पर वार, 'BJP सरकार में नही बन सकता अंबेडकर के सपनों का भारत'

हाईवे टोल के CCTV से मिले सुराग
पुलिस अधिकारियों ने हाइवे के टोल बूथों लगे सीसीटीवी के फुटेज की बारीकी से जाँच की तो कुछ अहम सुराग मिले. इसके आधार पर आरोपियों की गिरफ्तारी हो पायी. वारदात करने के लिए इन शातिरों के 2-3 गैंग चलते थे. पहला गैंग किसी गाड़ी पर जाकर बूथ के कैमरे तोड़ देता है. कुछ देर बाद दूसरा गैंग गाड़ी से जाता है और गाड़ी एटीएम से 100-200 मीटर दूर खड़ी की जाती है.

इसके बाद गैस कटर चलाने वाला एक्सपर्ट असलम 10-15 मिनट में एटीएम काट लेता है. वह सिर्फ ऐसे एटीएम काटता है, जिनके साइड में कंक्रीट नहीं भरी होती है. गिरोह का अन्य सदस्य रत्ती एटीएम कैसेट निकालने का काम करता है. गैंग का सरगना मुश्ताक कुरैशी वारदात के लिए सभी जरुरी सामान मुहैया कराता है. वारदात के  तड़के सुबह 2-4 बजे का समय चुनते थे .यूपी पुलिस ने रत्ती खान (अलवर), हाशिम, मजीदन, आसिफ, अजहरुद्दीन, आबिदा ( हरियाणा), जमशेद (पलवल) और असलम (गाजियाबाद) को गिरफ्तार किया है.

First published: 28 March 2018, 11:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी