Home » उत्तर प्रदेश » Income Tax Dept raided & found accounts of 20 fake companies with over Rs 60 Cr in AXIS Bank Noida
 

नोएडा: AXIS बैंक की ब्रांच में 20 फ़र्ज़ी कंपनियों के 60 करोड़ रुपये

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 December 2016, 13:20 IST

नोटबंदी के बाद पड़ रहे छापों में एक्सिस बैंक लगातार कठघरे में है. दिल्ली के चांदनी चौक में एक्सिस बैंक ब्रांच से फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद अब नोएडा में भी ऐसा ही मामला सामने आया है. 

नोएडा के सेक्टर 51 में स्थित एक्सिस बैंक पर जब आयकर विभाग ने छापा मारा तो हैरान कर देने वाला खुलासा हुआ है. छापे के बाद तफ्तीश में पता चला है कि सेक्टर 51 की इस शाखा में 20 फर्जी कंपनियों के खाते में 60 करोड़ रुपये जमा किए गए हैं. 

इससे पहले दिल्ली में एक्सिस बैंक की ही चांदनी चौक और कश्मीरी गेट शाखा में नोटबंदी के बाद गड़बड़ी की बात सामने आई थी. हालांकि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने साफ किया था कि एक्सिस बैंक का लाइसेंस रद्द नहीं किया जाएगा.

चांदनी चौक में 100 करोड़ का घपला!

नोटबंदी के बाद 9 दिसंबर को दिल्ली के चांदनी चौक मार्केट में स्थित एक्सिस बैंक की शाखा पर आयकर छापे में बड़ा खुलासा हुआ था. आईटी रेड के बाद पता चला कि आठ नवंबर को नोटबंदी के बाद से इस ब्रांच में 450 करोड़ रुपये जमा हो चुके हैं.

आयकर विभाग ने एक्सिस बैंक की चांदनी चौक ब्रांच में छापेमारी के बाद जांच में पाया कि बैंक में नोटबंदी के बाद 44 फर्जी खातों में करीब 100 करोड़ रुपये जमा हुए हैं. इस मामले में बैंक के पांच अफसर आयकर विभाग के रडार पर हैं. 

इससे पहले भी एक्सिस बैंक की कश्मीरी गेट ब्रांच के 19 कर्मचारियों पर कार्रवाई हुई थी. काले धन को सफेद करने के आरोप में इसी ब्रांच के दो मैनेजर भी गिरफ्तार हुए थे.

नोटबंदी के बाद एक्सिस बैंक की चांदनी चौक शाखा में 450 करोड़ रुपये जमा होने का खुलासा हुआ था.

कश्मीरी गेट ब्रांच में 40 करोड़ की गड़बड़ी!

चांदनी चौक ब्रांच में आयकर विभाग की छापेमारी के दौरान पता चला है कि 44 खातों में केवाईसी को ताक पर रखकर लेन-देन किया गया. 

इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग की तफ्तीश में कश्मीरी गेट ब्रांच के दो मैनेजर शोभित सिन्हा और विनीत सिन्हा को गिरफ्तार किया था. ईडी की टीम ने दोनों के पास से तीन किलोग्राम सोना भी जब्त किया था.

ईडी ने लखनऊ में छापा मारकर सोने की ईंटें बरामद की थीं. दोनों आरोपी बैंक मैनेजरों के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत केस दर्ज हुआ है. 

5 दिसंबर को प्रवर्तन निदेशालय ने 40 करोड़ के पुराने नोटों को नए नोटों के जरिए बदलने के आरोप में दोनों को गिरफ्तार किया था. एक्सिस बैंक ने अपने 19 कर्मचारियों को गैरकानूनी गतिविधि के आरोप में सस्पेंड किया था.

इससे पहले नवंबर में एक्सिस बैंक की कश्मीरी गेट शाखा से 3.7 करोड़ रुपये के पुराने नोट पकड़े गए थे, जिसकी प्रवर्तन निदेशालय जांच कर रहा है. 

चांदनी चौक ब्रांच पर छापे के बाद एक्सिस बैंक के प्रवक्ता ने कहा, "एक्सिस बैंक कॉरपोरेट गवर्नेंस और जीरो टॉलरेंस के लिए पूरी तरह समर्पित है. हमारा कोई भी कर्मचारी गैरकानूनी क्रिया-कलाप में शामिल पाया जाता है, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. तफ्तीश में हम जांच एजेंसियों की मदद कर रहे हैं."

First published: 15 December 2016, 13:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी