Home » उत्तर प्रदेश » Azam khan given controversial remark on 3 talaq
 

आज़म ख़ान: तीन तलाक़ के मामले में सिर्फ शरीयत का क़ानून ही माना जाएगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 May 2017, 16:54 IST
Azam Khan

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां ने कहा कि यदि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुसलमानों को परेशान करना नहीं छोड़ा, तो वह इसके खिलाफ संयुक्त राष्ट्र संघ (यूएनओ) जाएंगे और उसके बाद मोदी दुनिया को चेहरा नहीं दिखा पाएंगे.

सपा विधायक आजम खां ने कहा, “मोदी जी मुसलमानों को परेशान न करें, वरना मुसलमानों को सोचना पड़ेगा कि उन्हें कहां जाना है. यदि हम संयुक्त राष्ट्र संघ (यूएनओ) में चले गए तो मोदी जी दुनिया को मुंह नहीं दिखा सकेंगे. उन्हें पूरी दुनिया के सामने बेइज्जत होना पड़ेगा.”

टांडा में हुई जनसभा में तीन तलाक पर बयान को लेकर मोदी पर निशाना साधते हुए आजम ने कहा, “जो व्यक्ति सात फेरे लेने के बाद भी अपना पति धर्म न निभा सका, वह दूसरों की पत्नी का क्या ख्याल रखेगा. मोदी जी पहले अपनी पत्नी को तो हक दें.”

उन्होंने कहा कि तीन तलाक के मामले में सिर्फ शरीयत का कानून ही माना जाएगा. मुस्लिम महिलाओं द्वारा तीन तलाक का विरोध किए जाने पर

आजम ने कहा, “भाजपा का अजब तमाशा है, नकली मुस्लिम महिलाओं को बुरका पहनाकर तीन तलाक के विरोध में लाकर खड़ा कर दिया जाता है. हिंदुओं और मुस्लिमों लड़ाने वाले ये लोग मुस्लिमों को भी आपस में लड़ाना चाहते हैं.”

आजम खान लगातार बीजेपी और उसके नेताओं पर हमलावर रहते हैं. हाल ही में उन्‍होंने तीन तलाक पर विवादित बयान दिया था. 19 अप्रैल को आजम ने अपने बयान में कहा कि तीन तलाक पर बैन लगाए जाने से पहले सती प्रथा को पुन:स्थापित करना चाहिए.

First published: 1 May 2017, 16:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी