Home » उत्तर प्रदेश » Azam Khan reacts on jaya prada's statement of Khilji, Azam says Nachne wali ke munh nhi lagta
 

खिलजी से तुलना करने पर बोले आजम- नाचने-गाने वालों के मुंह लगेंगे तो सियासत कैसे करेंगे

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 March 2018, 15:45 IST

समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान और अभिनेत्री से राजनेता बनीं जया प्रदा के बीच जुबानी जंग एक बार फिर शुरू हो गई है. पहले जया प्रदा ने आजम पर हमला बोलते हुए उनकी तुलना ख़िलजी से की थी, जिसके जवाब में आजम खान भी अब सामने आये हैं. 

दरअसल, हाल ही में जया प्रदा ने कहा था कि उन्होंने दीपिका, रणवीर और शाहिद कपूर की फिल्म 'पद्मावत' देखी. उन्होंने कहा, टइस फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी के किरदार को देखकर उन्हें आजम खान की याद आ गई.' इसके बाद सपा नेता और अपने कड़क बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले आजम खान कहां चुप रहने वाले थे.

यही कारण रहा कि एक रैली के दौरान आजम खान ने जया प्रदा को जवाब दे दिया. उनका ये जवाब इतना अशोभनीय था कि इससे नया विवाद पैदा हो सकता है. दरअसल, आजम खान ने मंच से कहा, "पद्मावत बनी. सुना है खिलजी का रोल बहुत बुरा है. सुना है पद्मावती ने खिलजी के आने से पहले दुनिया छोड़ दी. मगर अभी एक औरत ने, एक नाचने वाली ने खादिम के बारे में कुछ कहा है. अब बताओ, नाचने-गाने वालों के मुंह लगेंगे तो सियासत कैसे करेंगे.'

ये भी पढ़ेंः Video: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर छात्र ने फेंका जूता

बता दें कि इससे पहले, जया प्रदा ने लंबे समय तक विवादों में रही बॉलीवुड के फेमस फिल्म मेकर संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' देखने के बाद पत्रकारों से कहा था, "फिल्म में 'खिलजी' को देखकर मुझे आजम खान जी की याद आ गई. चुनाव के दौरान उन्होंने मुझे कैसे परेशान किया था, इसकी याद आ गई."

ये भी सच है कि एक्ट्रेस जया प्रदा को राजनीति में लाने वाले सपा नेता आजम खान ही हैं. आजम खान ने जया को समाजवादी पार्टी में शामिल करवायाय यहां तक कि उनके लिए चुनाव प्रचार भी किया था. गौरतलब है कि साल 2004 तक जया प्रदा टीडीपी की नेता थीं. आजम खान की ही मदद से जया प्रदा ने रामपुर सीट से 85 हजार वोटों के अंतर से जीत दर्ज की थी.

ये  भी पढ़ेंः मैं और मेरी बहन पिता के हत्यारों को कर चुके हैं माफ- राहुल गांधी

बाद में जया प्रदा के अमर सिंह के कैंप में चले जाने की वजह से उनके और आजम खान के बीच दूरियां बढ़ गई थीं. बाद में आजम ने जया प्रदा के खिलाफ प्रचार किया था. हालांकि जया प्रदा आजम के विरोध के बावजूद दो बार जीतीं. 2010 में जया प्रदा और अमर सिंह को समाजवादी पार्टी से निकाल दिया गया था.

First published: 11 March 2018, 15:45 IST
 
अगली कहानी