Home » उत्तर प्रदेश » Bismillah khan 5 silver clarinet theft from Varanasi
 

बनारस में भारतरत्न बिस्मिल्लाह खान की पांच शहनाई हुई चोरी, एफआईआर दर्ज

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 December 2016, 11:44 IST
(एजेंसी)

भारत रत्न उस्ताद बिस्मिल्लाह खान की पांच शहनाई उनके वाराणसी स्थित आवास से चोरी हो गई है. इस संबंध में उनके पुत्र काजिम हुसैन ने चौक थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है.

मामले में केस दर्ज होने के बाद वाराणसी पुलिस जांच में जुटी गई है. बताया जा रहा है कि बिस्मिल्लाह खां की शहनाई शनिवार को उनके बेटे काजिम हुसैन के चाहमामा-दालमंडी स्थित घर से चोरी हुई.

काजिम हुसैन ने बताया कि चोरी हुई शहनाइयों में वह शहनाई भी शामिल है, जिससे उस्ताद मोहर्रम की 5वीं और 7वीं तारीख पर आंसुओं का नजराना पेश किया करते थे.

इसके अलावा पुरस्कार के रूप में मिली चांदी की कई तश्तरियां और लाखों रुपए के जेवरात भी गायब हैं.

बिस्मिल्ला खान के पुत्र काजिम ने रोते हुए बताया कि उनके पास उस्ताद की धरोहर के रूप में केवल वही पांच शहनाईयां  थीं. उन्होंने हाल ही उन्होंने दालमंडी स्थित चाहमामा मोहल्ले में नया मकान लिया है और इसमें उन्होंने उस्ताद की धरोहर एक दीवान में रखी हुई थी.

काजिम ने बताया कि पूरे परिवार के साथ 30 नवंबर को वह हड़हा सराय के पुराने मकान में गए थे. जब शनिवार रात करीब नौ बजे लौटकर आए तो घर की कुंडी टूटी मिली. घर के अंदर सारा सामान बिखरा हुआ था.

काजिम ने आगे बताया कि उन्होंने घटना की जानकारी सपा एमएलसी शतरुद्र प्रकाश को दी. शतरुद्र ने एसएसपी नितिन तिवारी से केस दर्ज कराने को कहा. एसएसपी ने चौक इंस्पेक्टर को कार्रवाई का निर्देश दिया.

गौरतलब है कि उस्ताद बिस्मिल्लाह खान देश के मशहूर शहनाई वादक थे. उन्हें वर्ष 2001 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था. वर्ष 2006 में उनका देहांत हो गया था.

वे बिहार के डुमरांव जिले के रहने वाले थे, लेकिन उन्होंने अपना पूरा जीवन उत्तर प्रदेश के वाराणसी में बिताया था. बिस्मिल्लाह खान एक मुसलमान परिवार से थे, लेकिन वे देवी सरस्वती के उपासक थे और गंगा किनारे बैठकर रियाज किया करते थे.

First published: 5 December 2016, 11:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी