Home » उत्तर प्रदेश » Corona Virus: All temple mosque shopping malls hotel restaurants and offices will open in UP from 8 June
 

यूपी में कल से खुलेंगे मंदिर-मस्जिद, शॉपिंग मॉल, होटल, रेस्टोरेंट और दफ्तर, ये होंगी शर्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 June 2020, 9:11 IST

Unlock in UP: कोरोना (Corona) का खतरा भले ही लगातार बढ़ता जा रहा हो, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) ने कल से मंदिर-मस्जिद, होटल, रेस्टोरेंट, शॉपिंग मॉल्स और सभी दफ्तर खोलने का फैसला लिया है. हालांकि, कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) में पाबंदियां पहले की तरह ही लागू रहेंगी. बता दें कि कोरोना वायरस (Corona Virus) के प्रसार को रोकने के लिए मार्च के महीने में पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा की गई थी, उसके बाद से ही देशभर में स्कूल-कॉलेजों के साथ-साथ धर्म स्थल, दफ्तर, शॉपिंग मॉल, होटल-रेस्टोरेंट बंद पड़े हैं.

जिससे भारी आर्थिक नुकसान हो रहा है. साथ ही लोगों को परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है. इन्हीं सब बातों को देखते हुए सरकार ने करीब ढाई महीने बाद इन्हें खोलने की छूट दी है. सोमवार से खुल रहे धर्म स्थलों, शॉपिंग मॉल, होटल व रेस्टोरेंट के खोलने ने के लिए राज्य सरकार ने गाइडलाइन जारी कर दी है. सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक, सभी स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. साथ ही मास्क लगाना या फेस कवर रखना भी अनिवार्य रहेगा.


राहुल गांधी ने कहा- नकद सहयोग न देकर अर्थव्यवस्था बर्बाद कर रही है मोदी सरकार

कोरोना वायरस ने बदला राजनीति का पैटर्न, अमित शाह कल बिहार चुनाव के लिए करेंगे Online रैली

राज्य सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन में धर्म स्थल, कार्यालय, शॉपिंग माल, होटल व रेस्टोरेंट संचालन के लिए क्या करना है और क्या नहीं करना है, इसके बारे में विस्तार से बताया गया है. राज्य के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि सभी जगह प्रवेश से पहले सैनिटाइजर का प्रयोग और इंफ्रारेड थर्मा मीटर से स्कैनिंग जरूरी होगी. जिनमें कोरोना के किसी तरह के लक्षण मिलते हैं उन्हें प्रवेश नहीं दिया जाएगा. धार्मिक स्थलों में प्रवेश और निकास की व्यवस्था अलग-अलग गेट से की जाएगी. साथ ही एसी का प्रयोग करते समय तापमान 24 से 30 डिग्री के मध्य रखना होगा.

महाराष्ट्र: कोरोना वायरस से 31 पुलिसकर्मियों की हो चुकी है मौत, सरकार देगी 65-65 लाख रुपए

धर्म स्थलों में प्रसाद का वितरण नहीं किया जाएगा और सभाओं का आयोजन भी नहीं होगा. हालांकि, रिकार्डेड भक्ति संगीत और गाने बजाए जा सकते हैं. इसके अलावा सामूहिक रूप से गाने पर प्रतिबंध जारी रहेगा. प्रतिरूप, मूर्तियों और ग्रंथों को छूने की अनुमति नहीं मिलेगी. इसके अलावा परिसर में शौचालयों और हाथ पैर धोने के स्थानों पर स्वच्छता के विशेष प्रबंध करने होंगे, पूरे परिसर में साफ सफाई और कीटाणु रहित करने के उपाय करने होंगे. साथ ही धर्म स्थलों में एक बार में पांच से अधिक लोगों के जुटने पर पाबंदी रहेगी.

कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या चार लाख के पार, भारत में संक्रमितों की संख्या में जबरदस्त उछाल

Coronavirus : भारत में 45 लाख से ज्यादा कोविड टेस्ट, रिकवरी रेट 48.2 फीसदी

वहीं राज्य सरकारी की सलाह दी है कि 65 साल से अधिक उम्र के लोग, एक से अधिक अन्य बीमारियों से ग्रस्त व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं और 10 साल से कम उम्र के बच्चों जब तक बहुत जरूरी न हो घर से बाहर न निकलें. लखनऊ जिला प्रशासन ने प्रदेश सरकार के दिशा निर्देशों को लागू कर दिया है. केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय से जारी गाइडलाइन के क्रम में मुख्य सचिव आरके तिवारी ने आठ जून से लागू होने वाले प्रावधानों के संबंध में शनिवार को विस्तृत दिशानिर्देश जारी किया.

एक साथ 25 स्कूलों में पढ़ाती थी शिक्षिका, एक करोड़ उठाई सैलरी, अधिकारी भी रह गए हैरान

इसमें कहा गया है कि धर्मस्थलों को खोलने से पहले प्रशासन व पुलिस के अधिकारी धर्मस्थलों के प्रबंधन से जुड़े लोगों से संवाद स्थापित करते हुए उन्हें सभी सावधानियां बरतने की जानकारी देंगे. साथ ही प्रवेश द्वार पर हाथों को कीटाणु रहित करने के लिए अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर का प्रयोग करना होगा. जिन व्यक्तियों में कोई लक्षण दिखाई देते हैं तो उन्हें प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी.

गजब: उत्तर प्रदेश में महिलाओं ने कोरोना वायरस को माना देवी मां, कर रही हैं पूजा-पाठ

First published: 7 June 2020, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी