Home » उत्तर प्रदेश » Coronavirus: Islamic Center of India announces announcement in Lucknow - Celebrate Ramadan in homes
 

Coronavirus : लखनऊ में इस्लामिक सेंटर ऑफ़ इंडिया ने किया अनाउंसमेंट- घरों में मनाएं रमजान

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 April 2020, 12:19 IST

Coronavirus: कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर मुस्लिम धर्मगुरूओं ने लोगों से रमजान के पवित्र महीने में घर पर रहने और वहीं पर धार्मिक कार्य करने की अपील की है. एएनआई के अनुसार विद्यार्थी इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया के मोहम्मद हुसैन ने कहा 'रमज़ान का महीना शुरू होने वाला है. 25 अप्रैल को पहला रोज़ा होगा. लोगों से गुज़ारिश है कि इफ़्तार पार्टी में खर्च होने वाले पैसे को गरीब लोगों की मदद के लिए खर्च करें'.

कोरोना वायरस के मद्देनजर मौलाना खालिद रशीद फिरंगी ने कहा ''पूरे देश में लॉकडाउन जारी है ऐसे में सभी लोग रोज़ा घर पर रखें, इफ्तार भी और नमाज़ भी घर पर ही पढ़ें और कोई भी घर के बाहर न जाए. इसके लिए इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया की तरफ से लखनऊ में गाड़ियों के जरिए मोहल्लों में अनाउसमेंट की जा रही है.


 

इसमें कहा गया है कि इस्लामिक सेंटर ऑफ़ इंडिया द्वारा शहर में घोषणाएं की जा रही है कि रमज़ान के पवित्र महीने में लोगों को घरों में रहकर रोज़े, तरावीह और इफ्तार भी करना है, सिर्फ मस्जिद में जो लोग रह रहे हैं वही लोग मस्जिद में तरावीह पढ़ेंगे. इस दौरान वो सामाजिक दूरी का भी पालन करने को भी कहा गया है.

इससे पहले केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने रमजान की मुबारकबाद देते हुए लोगों से घरों में रहकर ही इबादत करने की अपील की थी. उन्होंने कहा ''कोरोना के कहर के कारण देश के सभी मुस्लिम धर्म गुरुओं, इमामों, धार्मिक-सामाजिक संगठनों एवं भारतीय मुस्लिम समाज ने संयुक्त रूप से 24 अप्रैल से शुरू हो रहे रमजान के पवित्र महीने में घरों पर ही रह कर इबादत, इफ्तार, तरावी एवं अन्य धार्मिक कर्त्तव्यों को पूरा करने का निर्णय लिया है'' उन्होंने कहा शब ए- बारात की तरह लोग रमजान भी मनाएं.

 coronavirus: मुंबई के वकील ने इंटरनेशनल कोर्ट में चीन पर ठोका मुकदमा, मांगा करोड़ों का मुआवजा

COVID-19: दुनियाभर में अब तक 1.77 लाख से ज्यादा लोगों की मौत, अमेरिका में एक दिन में 2,804 की गई जान

First published: 22 April 2020, 12:11 IST
 
अगली कहानी