Home » उत्तर प्रदेश » Diwali 2020: Yogi government's big decision, firecrackers banned in 30 districts of UP till 30 November
 

Diwali 2020: योगी सरकार का बड़ा फैसला, यूपी के इन 30 जिलों में 30 नवंबर तक पटाखे बैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 November 2020, 17:23 IST

उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार को कुछ जिलों में 'green crackers' को अनुमति दे दी है, जहां वायु की गुणवत्ता 'मध्यम' या बेहतर है. योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने मंगलवार आधी रात से 30 नवंबर से 1 दिसंबर की मध्यरात्रि तक एनसीआर में सभी प्रकार के पटाखों की बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की. NCR क्षेत्र जहां यूपी सरकार ने सभी प्रकार के पटाखों की बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है, उनमें मुजफ्फरनगर, आगरा, वाराणसी, मेरठ, हापुड़, गाजियाबाद, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, बागपत और बुलंदशहर शामिल हैं.

सरकार ने यह भी कहा कि इस समयावधि के पूरा होने के बाद आदेश की समीक्षा की जाएगी.  यूपी सरकार ने कहा कि "एनसीआर (मुज़फ्फरनगर, आगरा, वाराणसी, मेरठ, हापुड़, गाजियाबाद, कानपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, बागपत, बुलंदशहर) में प्रतिबंधित सभी प्रकार के पटाखों की बिक्री या उपयोग पर बैन रहेगा. यूपी सरकार इस साल दिवाली पर पटाखों को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) के आदेशों का पालन करेगी. अतिरिक्त मुख्य गृह सचिव (Additional Chief Secretary) अवनीश अवस्थी के अनुसार "एनजीटी के आदेश का अनुपालन किया जायेगा. हवा की गुणवत्ता बिगड़ रही है और इस मुद्दे के समाधान के लिए कदम उठाए जाने हैं."


कुछ शहरों जैसे लखनऊ, वाराणसी, प्रयागराज, बरेली, फिरोजाबाद, झांसी, कानपुर, बुलंदशहर, मुरादाबाद और रायबरेली में त्योहारी सीजन के दौरान पटाखों के उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जा सकता है. एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि जिलाधिकारी अपने-अपने जिलों में प्रदूषण स्तर को ध्यान में रखते हुए निर्णय लेंगे. इससे पहले एनजीटी ने 9 नवंबर से 30 नवंबर की मध्यरात्रि से शुरू होने वाले राष्ट्रीय राजधानी और आसपास के क्षेत्रों में पटाखों की बिक्री और उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया था. प्रतिबंध चार राज्यों में 2 दर्जन से अधिक जिलों पर लागू होगा जो एनसीआर का एक हिस्सा हैं.

Delhi-NCR: इस दिवाली आप नहीं छोड़ सकेंगे पटाखे, NGT ने 30 नवंबर तक आतिशबाजी पर लगाई रोक

First published: 10 November 2020, 17:23 IST
 
अगली कहानी