Home » उत्तर प्रदेश » Gangster sundar bhati nephew sheru bhati surrenders before up police he was wanted in bjp leader murder
 

पुलिस के सामने बेबस अपराधी, थाने पहुंचकर गिड़गिड़ाने लगा 50 हजार का इनामी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 March 2018, 10:00 IST

यूपी पुलिस अपराधों पर नकेल कसने की लगाने की लगातार कोशिश कर रही है. यही वजह है कि योगी सरकार के आने के बाद से एनकाउंटर की संख्या में वृद्धि हुई है. पुलिस के एनकाउंटर से घबराकर अब अपराधी सरेंडर करने को मजबूर हो गए हैं. हाल ही में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में खौफ का पर्याय बने सुंदर भाटी के भतीजे ने सरेंडर कर दिया.

बता दें कि सुंदर भाटी के भतीजे शेरू भाटी पर बीजेपी नेता शिवकुमार यादव की हत्या का आरोप है. पुलिस उसकी तगातार तलाश कर रही थी. यही नहीं पुलिस ने उस पर 50 हजार रुपये का इनाम भी घोषित कर रखा था. लेकिन यूपी पुलिस के ऑपरेशन क्लीन से घबराकर शेरू भाटी ने खुद सरेंडर कर दिया.

शेरू भाटी ने थाने पहुंचकर पुलिस को बोला कि, साहब मुझे गोली नहीं खानी, मैं सरेंडर कर रहा हूं'. शेरू भाटी का कहना है कि वो लगातार हो रहे एनकाउंटरों से खौफ में आ गया कि कहीं पुलिस उसे भी गोली न मार दे. बता दें कि पुलिस के डर से एक और बदमाश रणदीप के गैंग ने भी सरेंडर कर दिया था.

शेरू भाटी ने थाने पहुंचकर पुलिस को बोला कि, साहब मुझे गोली नहीं खानी, मैं सरेंडर कर रहा हूं'. शेरू भाटी का कहना है कि वो लगातार हो रहे एनकाउंटरों से खौफ में आ गया कि कहीं पुलिस उसे भी गोली न मार दे. बता दें कि पुलिस के डर से एक और बदमाश रणदीप के गैंग ने भी सरेंडर कर दिया था.

वहीं अपराधी अमित कसाना के भाई ने खुद दादरी कोतवाली पहुंचकर पुलिस से कहा है कि वो अपने भाई को 2-3 दिन में सरेंडर करवा देगा, क्योंकि उसे डर है कि पुलिस उसके भाई का एनकाउंटर कर देगी. बता दें कि पिछले 2 दिन से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ताबड़तोड़ एनकाउंटर हुए हैं जिसके बाद अपराधियों में खौफ है.

वहीं अपराधी अमित कसाना के भाई ने खुद दादरी कोतवाली पहुंचकर पुलिस से कहा है कि वो अपने भाई को 2-3 दिन में सरेंडर करवा देगा, क्योंकि उसे डर है कि पुलिस उसके भाई का एनकाउंटर कर देगी. बता दें कि पिछले 2 दिन से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ताबड़तोड़ एनकाउंटर हुए हैं जिसके बाद अपराधियों में खौफ है.

बता दें कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में पिछले 3 दिनों में 7 एनकाउंटर हो चुके हैं. इसमें 3 अपराधी मारे गए और 8 घायल हुए है. वहीं 8 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं. अकेले नोएडा में ही 3 एनकाउंटर हो चुके हैं. जिसमें 3 अपराधी घायल हुए और एक मारा गया. योगी सरकार के आने के बाद अब तक 1000 से ज्यादा एनकाउंटरहो चुके हैं.

इन एनकाउंटर में 45 से ज्यादा कथित अपराधी मारे गए. जबकि 200 से ज्यादा अपराधी घायल हो चुके हैं. पुलिस का दावा है कि एनकाउंटर के खौफ की वजह से अपराधी सरेंडर कर रहे हैं. वहीं 25 से ज्यादा अपराधी अभी भी सरेंडर करने के लिए संपर्क में हैं.

ये भी पढ़ें- बंगाल हिंसा पर बोलीं ममता बनर्जी- क्या राम ने हथियारों के साथ रैली करने को कहा था?

First published: 27 March 2018, 10:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी