Home » उत्तर प्रदेश » Gorakhpur: brd college dr kafeel ahmad khans brother shot jignesh mevani attacks on Yogi Govt
 

गोरखपुर: डॉ. कफील के भाई को मारी गोली, जिग्नेश मेवाणी ने कहा- अच्छे दिन में मारी जाती हैं गोलियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2018, 10:21 IST

बीआरडी अस्पताल केस से चर्चा में आए डॉ. कफील खान के छोटे भाई कासिफ जमील पर रविवार देर रात गोरखनाथ मंदिर के बाहर जानलेवा हमला हुआ. इसके बाद यूपी में राजनीति तेज हो गई है. कफील के भाई पर जानलेवा हमले के बाद यूपी की कानून-व्यवस्था पर सवाल उठने लगे हैंं. 

दरअसल, रविवार देर रात गोरखनाथ मंदिर से कुछ दूरी पर कफील के भाई पर जानलेवा हमला हुआ था. अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने कफील के भाई कासिफ पर कई राउंड फायर किए. इनमें से तीन गोलियां कासिफ को लगीं.

 

खबर के मुताबिक, रविवार देर रात करीब 10.30 बजे कासिफ निजी काम से वापस घर लौट रहे थे. गोरखनाथ मंदिर के करीब पुल क्रॉस करते ही कोतवाली थाना क्षेत्र में पल्सर सवार दो बदमाशों ने उनका रास्ता रोक लिया. इसके बाद कई राउंड फायर किए. कासिफ को बदमाशों की तीन गोलियां लगीं. बताया जा रहा है कि वह खुद बाइक चलाते हुए अस्पताल पहुंचे.

इस पर दलित नेता और गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी ने ट्वीट करते हुए लिखा, "योगी सरकार के पास जब ऑक्सीजन के पैसे नहीं थे तब बच्चों की जान बचाने वाले डॉक्टर कफील को जेल भेज दिया गया. अब उनके भाई को गोली मार दी जाती है. शुक्रिया मोदी जी आपके अच्छे दिन में हमें भड़काऊ भाषण, हिंसा, रक्तपात और गोलियां मिलीं."

वहीं मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कासिफ का कई लोगों से जमीन को लेकर विवाद चल रहा है. कासिफ के ही एक रिश्तेदार ने भाजपा के एक सांसद पर जमीन हड़पने का केस दर्ज कराया था. पुलिस के मुताबिक कासिफ और उनके परिवार का जमीन को लेकर कई विवाद चल रहा है.

पढ़ें- दिल्ली-NCR में तेज आंधी के साथ बारिश, दिन में अंधेरा छा जाने से 18 उड़ानें प्रभावित

डॉ. कफील खान के परिवार के लोगों की ओर से भी जमीन विवाद को लेकर कई केस दर्ज कराए गए हैं. इसे लेकर परिवार और कासिफ की कई लोगों से पुरानी रंजिश भी चल रही है.

बता दें कि डॉ. कफील गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में बच्चों की मौत के बाद चर्चा में आए थे. गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से कई बच्चों के मरने के मामले में डॉ. कफील को दोषी मानकर जेल भेज दिया गया था. बाद में उनको हाई कोर्ट से जमानत मिल गई थी.

First published: 11 June 2018, 10:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी