Home » उत्तर प्रदेश » GST Protest: Angrry traders shut shops in Delhi, Stop 4102 Jhansi Express train in Kanpur against GST
 

GST पर जंग: कारोबारी नाराज़, बाज़ार बंद

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 June 2017, 15:37 IST
एएनआई

वस्तु एवं सेवा कर यानी जीएसटी के खिलाफ देशभर में कारोबारियों के विरोध प्रदर्शन की भी खबर है. देश की राजधानी दिल्ली में व्यापारियों ने कई इलाकों में बाज़ार बंद रखे हैं.  

जीएसटी के मौजूदा स्वरूप के खिलाफ दिल्ली के थोक और अन्य बाजार बंद हैं. व्यापारियों ने कई जगह धरना-प्रदर्शन किया. वहीं कनॉट प्लेस, चांदनी चौक मुख्य बाजार, कमला नगर, खान मार्केट जैसे बाज़ार खुले हैं, यहां बंद को समर्थन नहीं मिल सका है. सामान्य दिनों की तरह यहां कारोबार चल रहा है. 

जीएसटी का इस वजह से विरोध

दिल्ली के व्यापारियों का कहना है कि वे जीएसटी के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन जीएसटी का टैक्स सिस्टम उनके कारोबार के मुताबिक नहीं है. उनकी दूसरी आपत्ति ये है कि जीएसटी के लागू होने से पेपर वर्क बढ़ जाएगा. इसी को लेकर दिल्ली के कई इलाकों में कारोबारी आंदोलन कर रहे हैं.

शुक्रवार के बंद का एलान भारतीय उद्योग व्यापार मंडल और चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (सीटीआई) ने किया था. सुबह के वक्त पुरानी दिल्ली के थोक बाजारों में बंद का असर देखा गया. 

दिल्ली के थोक बाजार बंद

पुरानी दिल्ली के कपड़ा बाज़ार, खारी बावली, नया बाज़ार, कश्मीरी गेट, मोरी गेट के साथ ही करोल बाग, टैंक रोड, गफ्फार मार्केट, यमुनापार के गांधी नगर थोक बाजार में दुकानें बंद दिखीं. सदर बाजार में भी सुबह दुकानों पर ताले लटके थे. सुबह के वक्त कई बाजारों में व्यापारी धरना-प्रदर्शन और रैली निकालते नज़र आए. 

इस बीच उत्तर प्रदेश में भी कारोबारियों के विरोध प्रदर्शन की खबर मिल रही है. कानपुर में जीएसटी के मौजूदा प्रावधानों से नाराज़ व्यापारियों ने 4102 झांसी एक्सप्रेस ट्रेन को रोक दिया.

उत्तर से दक्षिण तक विरोध प्रदर्शन

मध्य प्रदेश में भी कारोबारियों के विरोध की खबर है. राजधानी भोपाल में सभी बड़े बाज़ार जीएसटी के प्रावधानों के खिलाफ बंद हैं. शुक्रवार को कारोबारियों ने अपनी दुकानें बंद रखीं. 

दक्षिण के राज्य कर्नाटक में भी व्यापारी वर्ग के बीच जीएसटी का विरोध देखा जा रहा है. कर्नाटक टेक्सटाइल एसोसिएशन ने जीएसटी के खिलाफ बेंगलुरु में विरोध प्रदर्शन किया. इस दौरान कारोबारियों ने जीएसटी को वापस लेने की मांग की.

First published: 30 June 2017, 15:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी