Home » उत्तर प्रदेश » GUINNESS WORLD RECORD: World's longest painting made in Meerut, UP & left behind China
 

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्डः चीन को पीछे कर मेरठ में बनी दुनिया की सबसे लंबी पेंटिंग

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 November 2016, 14:17 IST

आखिरकार उत्तर प्रदेश के मेरठवासियों की मेहनत रंग लाई. शहरवासियों ने 1391.5 मीटर लंबी पेंटिंग बनाकर नया विश्व कीर्तिमान रच दिया है. स्थानीय लोगों और सैकड़ों किलोमीटर दूर से आए कलाकारों ने हिंदुस्तान या यूं कहें कि इस क्रांतिधरा को नए आयाम दिए हैं. 

इसके साथ ही शहर का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज हो गया है. इस रिकॉर्ड के लिए पर्यवेक्षक के तौर पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड की ओर से ऋषि नाथ ने आधिकारिक तौर पर आयोजकों को एक प्रमाणपत्र देकर इसकी औपचारिक घोषणा की.

इस अवसर पर कमिश्‍नर आलोक सिन्‍हा ने कहा कि हम सबने मिलकर इस उपलब्धि को हासिल किया है. इसमें पूरे शहर का योगदान रहा है. मुझे बहुत खुशी है कि मेरठ का नाम रोशन हुआ हैै.

जिलाधिकारी बी. चंद्रकला ने कहा कि आगेे भी कोशिश रहेगी कि इस सौहार्द के वातावरण को हम हमेशा बनाए रखें और इस पॉजिटिव दिशा में मेरठ का नाम रोशन करते रहें. उन्‍होंने कहा कि मेरठवासी कभी रुके न थके, बल्‍कि जैसे-जैसे पास आते गए लोगों का जोश दोगुना होता गया.

माल रोड पर रचा गया इतिहास

मेरठ के माल रोड पर इस प्रतियोगिता का आयोजन किया गया. यहां पर पाइन डिवीजन सेना के जेसीओ से लेकर शहर के कमिश्नर और जिलाधिकारी तक मौजूद रहे और पूरी व्यवस्था को देखने के लिए खुद सेना के जवान भी यहां पर मौजूद रहे. साथ ही पूरे माल रोड पर किसी भी तरह के निजी वाहन पर प्रतिबंध लगाया गया था.

'मेरा शहर मेरी पहल' संस्था ने आयोजित किया कार्यक्रम

विश्‍व रिकॉर्ड पेंटिंग में दूर-दूर से आए कलाकारों ने हिस्‍सा लिया. इस पूरे आयोजन को कमिश्नर और जिलाधिकारी के माध्यम से 'मेरा शहर मेरी पहल' संस्था ने आयोजित किया. पिछले करीब 6 माह बाद यह दिन आया कि जब सभी की मेहनत पूरी तरह से सफल हो पाई.

2500 टेबल पर बना कैनवास

इसके लिए लगभग 2500 टेबल पर ये कैनवास बनाया गया. कैनवास पर रंग बिखेरने के लिए 3500 प्रतिभागियों ने अपनी कला उकेरी. पूरे आयोजन को देखने के लिए 550 एक्सपर्ट की टीम भी मौजूद रही. इस पूरे कैनवास को 14 हाउसों में बांटा गया था.

सैन्‍य अधिकारी भी पहुंचे

कार्यक्रम के दौरान युवाओं के मनोरंजन की भी व्‍यवस्‍था की गई थी. सेल्फी प्वाइंट पर कलाकार लोगों का मनोरंजन करने के लिए मौजूद रहे. सेना के पाइन डिवीजन के जीओसी खुद अपने परिवार के साथ खुद ही गाड़ी में घूमकर इस आयोजन का आनंद ले रहे थे. इसके अलावा मेरठ के कमिश्नर आलोक सिन्‍हा भी बिना सिक्योरिटी और बिना ड्राइवर के खुद खुद ही गाड़ी चलाते दिखे.

इससे पहले चीन के नाम था रिकॉर्ड

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकाॅॅर्ड पर्यवेक्षक ऋषि नाथ बताया कि इससे पहले चीन ने 2009 में ऐसा रिकॉर्ड बनाया था, लेकिन आज उसका रिकाॅॅर्ड तोडते हुए भारत ने इस पेंटिंग को बना कर इतिहास रचा है. जैसे ही ऋषिनाथ ने घोषणा की तो तमाम अधिकारियों और आयोजकों के चेहरे पर खुशी की लहर दिखी. सर्टिफिकेट लेकर कमिश्नर आलोक सिन्‍हा और जिलाधिकारी बी. चंद्रकला ने जनता के साथ खुशी में गाना गाया.

लॉन्गेस्ट पेंटिंग बाई नंबर्स की श्रेणी में हुआ दर्ज

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के मुताबिक, ये रिकार्ड LONGEST PAINTING BY NUMBERS की श्रेणी में दर्ज किया गया है. हालांकि, इस पेटिंग की लंबाई 1400 मीटर रखी गई थी, लेकिन गिनीज बुक ने इसे 1391.5 मीटर नापा है. इसमें 3500 से ज्यादा कलाकारों ने सहयोग दिया.

First published: 15 November 2016, 14:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी