Home » उत्तर प्रदेश » High Security number plate in Old Vehicles is not mandatory in UP till next order
 

गाड़ी मालिकों के लिए खुशखबरी, पुरानी गाड़ियों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगाने की नहीं होगी जरूरत

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 December 2020, 12:59 IST

अगर आप उत्तर प्रदेश में रहते हैं और आपके पास कार या बाइक है तो आपके लिए खुशखबरी है. दरअसल, अब पुरानी गाड़ियों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (High Security Number Plates) लगवाने की बाध्यता को परिवहन विभाग ने अगले आदेश तक रद्द कर दिया है. यानी अब आपको अपनी बाइक या कार में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. बता दें कि ये आदेश सिर्फ उत्तर प्रदेश (UP) के लिए है. देश के अन्य राज्यों के वाहन मालिकों को अपने वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट जरूर लगानी होगी. वरना उन्हें भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश में 01 अप्रैल 2019 के पहले के पुराने वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाना जरूरी कर दिया गया था, लेकिन अब उस पर रोक लगा दी गई है. उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग (UPTD) ने एचएसआरपी लगवाने की अनिवार्यता को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया है. ऐसे में 22 अक्टूबर 2020 को परिवहन विभाग की ओर से जारी दिशा निर्देश को वापस ले लिया गया है. बता दें कि पुराने वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाने की अनिवार्यता ने गाड़ी मालिकों को बेहद परेशान कर दिया था.


Coronavirus Update: 250 रुपये हो सकती है टीके की कीमत, सरकार और सीरम के बीच चल रही है बातचीत- रिपोर्ट

कहीं ऑनलाइन आवेदन में दिक्कतें सामने आ रही थी तो कहीं नंबर प्लेट के बदले मनमानी तरह से पैसा वसूल किया जा रहा था. गाड़ी मालिकों की इस समस्या को देखते हुए परिवहन विभाग के अपर परिवहन आयुक्त एके पांडेय ने कहा कि अब पुराने वाहनों में एचएसआरपी लगवाना जरूरी नहीं है. इसके के लिए बाद में दोबारा आदेश दिया जाएगा. तब तक के लिए वाहन मालिकों को हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाना जरूरी नहीं होगा. बता दें कि वाहन स्वामियों की सुविधा और हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की बुकिंग को आसान बनाने के लिए परिवहन विभाग खुद वेबसाइट बनाएगा. इसके लिए विभाग सोसाइटी ऑफ ऑटोमोबाइल्स मैन्युफैक्चर्स से मिलकर पोर्टल तैयार करेगा.

Bharat Bandh: RSS से जुड़े किसान संगठन ने भी माना- नए कृषि कानूनों में सुधार की जरुरत

इसके बाद ही एचएसआरपी लगवाने की अनिवार्यता की तारीख फिर से तक की जाएगी. वहीं एचएसआरपी की अनिवार्यता खत्म होने पर आरटीओ में वाहन संबंधी कार्यों पर लगी रोक को हटा लिया गया है. इनमें फिटनेस प्रमाण पत्र, पंजीयन, स्वामित्व अंतरण, पता परिवर्तन, पंजीयन का नवीनीकरण, अनापत्ति प्रमाण पत्र, हाइपोथैकेशन पृष्ठांकन, हाइपोथैकेशन निरस्तीकरण, नया परमिट, परमिट की द्वितीय प्रति, परमिट नवीनीकरण, अस्थाई परमिट, विशेष परमिट, नेशनल परमिट आदि के काम अब बिना एचएसआरपी रसीद भी कराए जा सकेंगे.

Bharat Bandh: दिल्ली पुलिस ने CM अरविंद केजरीवाल को किया हाउस अरेस्ट- AAP का आरोप

First published: 8 December 2020, 12:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी