Home » उत्तर प्रदेश » In Dalit park CM Yogi found Maharana Pratap and Prithvi chauhan statue
 

यूपी: दलित स्मारकों में महाराणा प्रताप, पृथ्वीराज चौहान के साथ OBC महापुरुषों की लगेंगी मूर्तियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 June 2017, 13:02 IST

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मायावती सरकार के वक्त आंबेडकर और कांशीराम की स्मृति में बनवाए गए दलित पार्कों में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) और अन्य जातियों (अगड़ी जातियों) के महापुरुषों की मूर्तियां लगवाने का फैसला लिया है.

योगी सरकार ने इस मामले में पहल करते हुए सबसे पहले 11वीं सदी के राजा सुहेलदेव की मूर्ति लगवाने  का निर्णय लिया है. श्रावस्ती के राजा सुहेलदेव राजभर समुदाय से थे. राजभर समुदाय अब अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल है.

भाजपा सरकार ने भीमराव आंबेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल (अंबेडकर स्मारक) के अंदर और बाहर दोनों जगह राजा सुहेलदेव की मूर्तियां लगवाने का फैसला किया है. बसपा प्रमुख मायावती ने अप्रैल 2009 में लखनऊ में अंबडेकर स्मारक स्थल और पार्क बनवाकर उनमें विभिन्न महापुरुषों की सात फीट ऊंची संगमरमर की मूर्तियां लगवाई थीं.

इन स्मारक स्थलों में आंबेडकर, कांशीराम और खुद मायावती के अलावा ज्योतिबा फुले, बिरसा मुंडा, नारायण गुरु, छत्रपति साहूजी महाराज, कबीर दास, संत रविदास और गुरु घासीदास की मूर्तियां लगवाई थीं.

योगी आदित्यनाथ सरकार ने राजा सुहेलदेव की 16-18 फीट ऊंची कांस्य प्रतिमा आंबेडकर स्मारक स्थल के अंदर लगवाने का निर्णय लिया है. स्मारक के बाहर राजा सुहेलदेव की संगमरमर की प्रतिमा लगवाई जाएगी.

इस संबंध में जानकारी देते हुए सूबे के पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि इन पार्कों और स्मारक स्थलों में अहिल्याबाई होल्कर, सावित्रीबाई फुले, दक्ष प्रजापति, गुहराज निषाद (ओबीसी जातियों से जुड़े), महाराणा प्रताप और पृथ्वीराज चौहान (अगड़ी जातियों से संबंधित) की मूर्तियां भी लगाई जाएंगी.

गौरतलब है कि हाल ही में योगी आदित्यनाथ सरकार ने मायावती सरकार द्वारा बनवाए गए दलित स्मारक स्थलों के रख-रखाव और मरम्मत के लिए 10 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है.

First published: 5 June 2017, 12:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी