Home » उत्तर प्रदेश » Indefinite strike by Shikshamitr in Uttar Pradesh
 

यूपी: स्कूल की बजाए फिर सड़क पर शिक्षामित्र

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 August 2017, 15:00 IST

सुप्रीम कोर्ट की ओर से शिक्षा मित्रों का सहायक अध्यापक के तौर पर समायोजन रद्द होने के बाद से नाराज शिक्षामित्र सोमवार को फिर लखनऊ पहुंच रहे हैं. शिक्षा मित्रों के आंदोलन को देखते हुए लखनऊ में जिला प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दिया है.

साथ ही शिक्षा मित्रों को उनके अपने ही जिले में रोकने के लिए सभी जिलों के अधिकारियों को आदेश दिया गया है. शिक्षामित्रों ने 21 अगस्त से लखनऊ में समायोजित शिक्षक शिक्षामित्र संघर्ष मोर्चा के बैनर तले अनिश्चितकालीन आंदोलन छेड़ने का एलान किया था. इसी के तहत शिक्षामित्र लखनऊ लक्ष्मण मेला मैदान पर जुटने शुरू हो गए हैं. सुबह तक ही यहां के लक्ष्मण मेला मैदान पर शिक्षामित्र सैकड़ों की संख्या में जुट गए थे.

इस आंदोलन में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ, जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ, उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ, कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति, भारतीय किसान यूनियन जैसे संगठनों ने समर्थन देने का एलान किया है.

गौरतलब है कि सभी शिक्षामित्र समायोजन रद्द होने से भड़के हुए हैं. वहीं आंदोलन को धार देने के लिए शिक्षामित्रों को दो बड़े गुट आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन और उप्र प्राथमिक शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन ने साझा संघर्ष मोर्चा बनाया है.

शिक्षामित्रों की मांग है कि सरकार संशोधित अध्यादेश लाकर उन्हें फिर से सहायक अध्यापक के पद पर समायोजित करे. तब तक 'समान कार्य के लिए समान वेतन' के सिद्घांत पर उन्हें शिक्षकों के बराबर तनख्वाह दी जाए.

First published: 21 August 2017, 15:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी