Home » उत्तर प्रदेश » Indore-Patna train accident: Pakistan's ISI may be behind the conspiracy more than 150 had died
 

कानपुर के पास इंदौर-पटना ट्रेन हादसे में ISI की साज़िश का शक, 6 गिरफ़्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 January 2017, 11:21 IST

कानपुर के पुखरायां के पास पिछले साल 20 नवंबर को हुए बड़े ट्रेन हादसे में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ होने का शक जताया जा रहा है. बिहार में गिरफ्तार तीन लोगों से पूछताछ में यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. 

कानपुर के पास इंदौर-पटना एक्सप्रेस ट्रेन हादसे में 150 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी. बिहार पुलिस ने मंगलवार को कहा कि इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसे के अलावा बिहार के घोड़ासाहन स्टेशन के पास पिछले साल मालगाड़ी और यात्री ट्रेन को दुर्घटनाग्रस्त करने की नाकाम साजिश रचने के पीछे भी आईएसआई का हाथ होने की संभावना है. 

पूर्वी चंपारण से तीन गिरफ्तार

पूर्वी चंपारण के एसपी जितेंद्र राणा के मुताबिक गिरफ्तार तीन आरोपियों में से एक मोती पासवान ने पूछताछ के दौरान कबूल किया है कि पिछले साल नवंबर में इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसे की साजिश आईएसआई ने रची थी. 

एसपी राणा का कहना है कि गिरफ्तार तीनों अभियुक्तों मोती पासवान, उमाशंकर प्रसाद और मुकेश यादव के पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी से संबंध होने के सबूत भी मिले हैं.

दिल्ली से दो संदिग्ध दबोचे

बताया जा रहा है कि इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) की टीम तीनों से पूछताछ करके और जानकारी जुटा रही है. इसके साथ ही रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) और एनआईए को भी गिरफ्तारी के बारे में बताया गया है.

पूर्वी चंपारण के एसपी राणा के मुताबिक मोती पासवान ने बताया कि वह ट्रेन हादसे की साजिश में शामिल था. पूछताछ में उसने माना है कि इस साजिश में जुबैर और जियाउल नाम के दो शख्स भी शामिल थे. 

नेपाल से तीन आरोपी गिरफ्तार

संदिग्ध जुबैर और जियाउल को भी दिल्ली से गिरफ्तार किया जा चुका है. पासवान ने दिल्ली से गिरफ्तार दोनों संदिग्धों की पहचान कर ली है. एसपी जितेंद्र राणा का कहना है कि तीन अन्य संदिग्धों को भी नेपाल से गिरफ्तार किया गया है. 

पूर्वी चंपारण के एसपी का कहना है कि हमें नेपाल पुलिस से सूचना मिली कि आईएसआई ने भारत में आतंकी वारदात को अंजाम देने के लिए गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों में से एक बृजकिशोर गिरी का इस्तेमाल किया था.

First published: 18 January 2017, 11:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी