Home » उत्तर प्रदेश » Janta Curfew: All Petrol Pumps and Transport will be closed in UP to Make Janata Curfew success
 

जनता कर्फ्यू: कल यूपी में नहीं मिलेगा पेट्रोल-डीजल, बंद रहेंगे सभी Petrol Pump

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 March 2020, 16:04 IST

Janta Curfew: देशभर में कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 22 मार्च (22nd March) यानी रविवार को जनता कर्फ्यू (Janta Curfew) लगाने की मांग की है. जनता कर्फ्यू को सफल बनाने के लिए राज्य सरकारों (State Governments) और विभिन्न संगठनों ने भी कमर कस ली. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने 'जनता कर्फ्यू' (Janta Curfew) को सफल बनाने के लिए राज्य में सभी तरह की यात्री सेवाओं (Transport Service) को बंद रखने का आदेश दिया है. हालांकि, जनता कर्फ्यू के दौरान पुलिस वाहन, एम्बुलेंस और फायर ब्रिगेड जैसे जरूरी वाहनों के आवागमन पर कोई पाबंदी नहीं होगी. इसके अलावा रविवार को लखनऊ मेट्रो और नोएडा मेट्रो की सेवाएं भी बंद रहेंगी.

जनता कर्फ्यू को पूरी तरह से सफल बनाने के लिए उत्तर प्रदेश में सभी पेट्रोल पंपों को बंद रखने की भी घोषणा की गई है. जिसके चलते रविवार को आपको पेट्रोल-डीजल नहीं मिल पाएगा. यूपी पेट्रोल ट्रेडर्स एसोसिएशन ने जनता कर्फ्यू' (Janta Curfew) को सफल बनाने के लिए यह फैसला लिया है. ऐसे मे केवल पुलिस वाहन, एम्बुलेंस और फायर ब्रिगेड ही सेवाओं का उपयोग कर पाएंगे. सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के निर्देश के बाद उत्तर प्रदेश परिवहन निगम (UPSRTC) ने आदेश जारी किया है कि रविवार 22 मार्च को सुबह 7 से रात 9 बजे तक पूरे प्रदेश में रोडवेज बसें नहीं चलेंगी.

बता दें कि दुनियाभर में कोरोना वायरस का खतरा तेजी से बढ़ रहा है ऐसे में भारत के सामने भी बड़ी चुनौती खड़ी हो गई है क्योंकि भारत में अब तक कोरोना वायरस के 275 मामले सामने आए हैं, जिनमें से पांच लोगों की मौत हो चुकी है और 247 लोगों का अभी भी इलाज चल रहा है. वहीं 23 लोग इलाज के बाद स्वस्थ हो गए हैं. हालांकि अभी भी भारत बड़ी चुनौतियों का सामना कर रहा है. इन सबको देखते हुए उत्तर प्रदेश में सभी निचली अदालतों को 28 मार्च तक के लिए बंद करने का आदेश जारी किया गया है.

इसमें कहा गया है जिला जज को यदि कोई केस अति महत्वपूर्ण लगे तो ही उसकी सुनवाई करवाएं, बाकी बेल उन्हीं की सुनी जाएगी जो जेल में हैं. आदेश में कहा गया है कि जितने दिन इधर बंद करना पड़ रहा है, उतने दिन गर्मी की छुट्टियों में कोर्ट खोल कर काम किया जाएगा. इसमें निचली अदालत में जिला और सत्र न्यायालय, सभी ट्रिब्यूनल और सभी प्रकार की कोर्ट शामिल हैं.

भारत में कोरोना वायरस के अबतक 258 मरीज, जानिए किस राज्य में कितने संक्रमित

केंद्रीय मंत्री ने किया अनाउंस- सैनिटाइजर और मास्क की बाजार में ये होगी सही कीमत

कोरोना वायरसः नोएडा सेक्टर 74 में सामने आया नया मामला, दो दिन के लिए सील की गई सोसाइटी

First published: 21 March 2020, 16:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी