Home » उत्तर प्रदेश » Jinnah portrait removed from amu after controversy, BJP MP says Jinnah portrait send to pakistan
 

विवाद के बाद AMU से हटी जिन्ना की तस्वीर, बीजेपी सांसद ने कहा- पाकिस्तान भेज दो

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 May 2018, 21:24 IST
(twitter )

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के छात्रसंघ के हॉल में लगी पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को विवाद के बाद हटा दिया गया है. हालांकि तस्वीर हटाने के पीछे की वजह परिसर की सफाई बताई गई है. वहीं अलीगढ़ से बीजेपी सांसद ने कहा है कि जिन्ना की तस्वीर को पाकिस्तान भेज दिया जाए.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, AMU छात्र संघ के सज्जाद सुभान राथर ने कहा है कि सफाई होने की वजह से परिसर में से जिन्ना सहित सभी की तस्वीरों को हटा दिया गया है. एक बार सफाई का काम पूरा होने के बाद सभी तस्वीरों को फिर से उसी जगह पर लगा दिया जाएगा.

 

वहीं आजतक से बात करते हुए अलीगढ़ से बीजेपी सांसद सांसद सतीश गौतम ने कहा कि उन्होंने जिन्नी की तस्वीर को हटाने के लिए विश्वविद्यालय के वीसी को चिट्ठी लिखी थी. इसके बाद ही विश्व विद्यालय प्रशासन हरकत में आया है. उन्होंने कहा है कि जिन्ना की तस्वीर को पाकिस्तान भेज देना चाहिए.

उन्होंने कहा कि जिन्ना देश के बंटवारे के मुख्य सूत्रधार थे. इसके बाद भी उसकी तस्वीर को विश्वविद्यालय में क्यों लगाया गया. वहीं जिन्ना तस्वीर को लगाए जाने को लेकर योगी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान को लेकर गौतम ने कहा है कि ये उनका निजी बयान है. पार्टी को उससे कोई लेना देना नहीं है.

स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान को लेकर फैसला संगठन को करना है. मेरी जिम्मेदारी अलीगढ़ की है, क्यों कि मैं यहां का सांसद हूं. कौन क्या बोल रहा है. उससे मुझे कोई लेना देना नहीं है.

वहीं दूसरी तरफ जमीयत उलेमा हिंद के महासचिव महमूद मदनी ने जिन्ना की तस्वीर को लेकर शुरू हुए विवाद पर कहा कि भारतीय मुसलमान जिन्ना के विचारों और भारत के बंटवारे को पहले ही खारिज कर चुके है. उन्होंने पाकिस्तान की जगह भारत को में रहना चुना.

मदनी ने सवाल करते हुए कहा कि इस तस्वीर को इतने दिनों तक AMU में रखा ही क्यों गया. मुस्लिमों से जुड़े संस्थानों में ऐसी चीजों को नहीं रखा जाना चाहिए. यूनिवर्सिटी प्रशासन को खुद ही जिन्ना का पोट्रेट हटा देना चाहिए.

First published: 2 May 2018, 20:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी