Home » उत्तर प्रदेश » Saeldah-Ajmer expres train derailed between Rura-Metha near Kanpur Dehat
 

कानपुर: सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस के 15 डिब्बे पटरी से उतरे, 2 की मौत, 60 ज़ख़्मी

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 December 2016, 9:29 IST
(एएनआई)

उत्तर प्रदेश में कानपुर के पास एक बार फिर ट्रेन हादसा हुआ है. कानपुर देहात के रूरा स्टेशन के पास अजमेर-सियालदह एक्सप्रेस के 15 डिब्बे पटरी से उतर गए. कानपुर के आईजी ज़की अहमद का कहना है कि इस दुर्घटना में दो लोगों की मौत हो गई है. इसके अलावा करीब 60 लोग जख्मी हुए हैं.

रेल मंत्रालय के मुताबिक ट्रेन नंबर 12987 सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस के डिब्बे कानपुर से 50 किलोमीटर दूर रूरा और मेथा के बीच सुबह 5 बजकर 20 मिनट पर पटरी से उतर गए. 

रेल मंत्रालय का मौतों से इनकार

इलाहाबाद मंडल के सीपीआरओ विजेंद्र कुमार का कहना है कि जो 15 बोगियां पटरी से उतरी हैं, उनमें से 13 स्लीपर कोच और दो जनरल डिब्बे हैं. 

हालांकि रेल मंत्रालय ने अभी हादसे में किसी के मौत होने की खबर से इनकार किया है. रेल मंत्रालय ने साफ किया है कि हादसे में किसी के मौत की रिपोर्ट नहीं है. कुल 44 लोग जख्मी हुए हैं.

एएनआई

हादसे की जांच का आदेश

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर कहा है कि वो हालात पर नज़र बनाए हुए हैं. रेल मंत्री ने ट्वीट किया, "कानपुर के पास सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस के पटरी से उतरने के दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की मैं व्यक्तिगत रूप से मॉनिटरिंग कर रहा हूं." 

रेल मंत्री ने अगले ट्वीट में लिखा, "घायलों को तुरंत इलाज उपलब्ध कराया जा रहा है और वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं." इसके साथ ही रेल मंत्री ने इस हादसे की जांच का आदेश दिया है.

20 नवंबर को हुआ था बड़ा हादसा

इसके साथ ही रेल मंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा, "हम रेल यात्रियों के लिए वैकल्पिक इंतजाम कर रहे हैं. हेल्पलाइन नंबर और जरूरी जानकारी मुहैया कराई जा रही है." हादसे के बाद कई ट्रेनों के रूट भी बदले गए हैं. 

इससे पहले 20 नवंबर को कानपुर के पास ही पुखरायां में एक बड़े रेल हादसे में करीब 150 लोगों की मौत हो गई थी. इंदौर-पटना इंटरसिटी ट्रेन के 14 डिब्बे इस हादसे में पटरी से उतर गए थे. 

हादसे के बाद कुछ कोच पूरी तरह मलबे में तब्दील हो गए थे. इन सबके बीच एक बार फिर हुआ ट्रेन हादसा रेल यात्रियों की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर रहा है. 

रेल मंत्रालय ने हादसे के बाद कुछ हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं. 

First published: 28 December 2016, 9:29 IST
 
अगली कहानी