Home » उत्तर प्रदेश » Life imprisonment man got first division in UP Board 10th result
 

मर्डर केस में आजीवन कारावास की सजा काट रहे युवक ने फर्स्ट डिवीजन में पास की बोर्ड परीक्षा

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 April 2019, 14:13 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

कहते हैं प्रतिभा किसी चीज की मोहताज नहीं होती. ये बात एक बार फिर एक युवक ने सिद्ध कर दी. उसने जेल की चारदीवारी के अंदर से बोर्ड की परीक्षा दी और फर्स्ट डिवीजन में पास भी कर ली. ये युवक चार से आजीवन कारावास की सजा काट रहा है. 35 साल के शिशुपाल नाम के एक कैदी ने जेल से ही यूपी बोर्ड की दसवीं की परीक्षा पास कर ली. इस परीक्षा में शिशुपाल ने प्रथम श्रेणी हासिल की.

जेल सूत्रों के मुताबिक, अकबरपुर छाता निवासी शिशुपाल सिंह को पुलिस ने 19 फरवरी 2015 को हत्या के मामले में गिरफ्तार किया था. वह तभी से जेल में बंद था. 12 फरवरी 2017 को अदालत ने उसे दोषी ठहराते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई. सजा मिलने के बाद उसने जेल अधिकारियों को बताया कि वह आठवीं क्लास तक पढ़ा-लिखा है. और हाईस्कूल की परीक्षा देना चाहता है. 

उसके बाद उच्च अधिकारियों से अनुमति मिलने के बाद उसने हाईस्कूल की परीक्षा का फार्म भर दिया. रीक्षा देने के लिए उसे फिरोजाबाद जेल भेजा गया. शनिवार को जब यूपी बोर्ड का रिजल्ट जारी हुआ तब वह दसवीं में प्रथम श्रेणी में पास हो गया. शिशुपाल ने दसवीं क्लास में 61.67 फीसदी अंक हासिल किए है. शिशुपाल की सफलता पर जेल अधिकारियों सहित अन्य कैदियों ने उसे बधाई दी.

छिपकली की वजह से महिला को हुई जेल, वजह जानकर रह जाएंगे दंग

First published: 29 April 2019, 14:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी