Home » उत्तर प्रदेश » Lucknow Couple gets passport who asked to change their religion by passport officer
 

विवाद के बाद हिन्दू-मुस्लिम कपल को मिला पासपोर्ट, धर्म बदलने को कहने वाले अफसर के खिलाफ हुआ एक्शन

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 June 2018, 12:01 IST

लखनऊ पासपोर्ट ऑफिस में हिंदू-मुस्लिम दंपति का पासपोर्ट आवेदन खारिज करने के मामले में कार्रवाई की गई है. विभाग ने आरोपी अधिकारी के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया है. वहीं पीड़ित दंपति को पासपोर्ट जारी कर दिया गया है.

दरअसल, बुधवार को लखनऊ के रतन स्क्वायर स्थित पासपोर्ट सेवा केंद्र पर तन्वी सेठ नाम की एक महिला अपने पति और बेटी के साथ पासपोर्ट बनवाने के लिए पहुंची थी. जहां पासपोर्ट अधीक्षक विकास मिश्र तन्वी सेठ से उनकी शादी को लेकर कई सवाल पूछना शुरु कर दिया.

क्योंकि तन्वी ने एक मुस्लिम युवक अनस सिद्दीकी से शादी की थी. साथ ही तन्वी ने शादी के बाद अपना सरनेम नहीं बदला था. इस पर पासपोर्ट अधीक्षक विकास मिश्र ने तन्वी के पति अनस सद्दीकी को धर्म परिवर्तन करने और नाम बदलने तक की नसीहत दे डाली. जो ना तो तन्वी को और ना ही अनस को पसंद आई.

उसके बाद तन्वी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट कर इस संबंध में मदद की गुहार लगाई. आखिरकार गुरुवार को तन्वी सेठ और अनस सिद्दीकी को पासपोर्ट जारी कर दिया गया. मीडिया से बातचीत के दौरान अनस सिद्दीकी ने बताया कि पासपोर्ट अधीक्षक ने उनसे उनकी शादी के बारे में ही सवाल नहीं पूछे बल्कि उन्हें नाम बदलने और धर्म परिवर्तन तक की नसीहत दी.

अनस ने बताया कि उनकी पत्नी का पासपोर्ट महज इसलिए होल्ड पर रखा गया था क्योंकि मैं मुस्लिम और मेरी पत्नी हिंदू है. फिलहाल विभाग ने पासपोर्ट अधीक्षक विकास मिश्र के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया है. बता दें कि तन्वी ने साल 2007 में अनस सिद्दीकी से शादी की थी. उनकी छह साल की एक बेटी भी है. उन्होंने लखनऊ में पासपोर्ट के लिए आवेदन किया था.

ये भी पढ़ें- लखनऊ : मुस्लिम युवक से शादी करने वाली महिला के साथ पासपोर्ट ऑफिस ने की बदतमीजी, सुषमा से मांगी मदद

First published: 21 June 2018, 12:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी