Home » उत्तर प्रदेश » Mayawati: BJP did tampering in EVMs on 250 seats out of 403 the seats where BJP was very weak
 

मायावती: 250 सीटों पर भाजपा को EVM ने जिताया, किसी से भी मिलाएंगे हाथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 April 2017, 13:14 IST

बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ईवीएम को लेकर अपने आरोपों पर कायम हैं. यूपी विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद मायावती ने आरोप लगाया था कि भाजपा ने ईवीएम में छेड़छाड़ के जरिए लोकतंत्र की हत्या करके चुनाव में जीत हासिल की है.

आंबेडकर जयंती पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा, "यूपी की 403 विधानसभा सीटों में से 250 सीटों पर भाजपा ने ईवीएम में छेड़छाड़ की है. इन सीटों पर भाजपा बहुत कमजोर थी." गौरतलब है कि यूपी में भाजपा ने अपने सहयोगियों के साथ कुल 325 सीटों पर जीत हासिल की थी. 312 सीटें भाजपा को जबकि 9 सीटें अपना दल और चार सीटें सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी को मिली थीं. 

'किसी से हाथ मिलाने को तैयार'

लखनऊ में 126वीं जयंती पर बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर को श्रद्धांजलि देते हुए मायावती ने भविष्य में भाजपा के खिलाफ किसी भी महागठबंधन के साथ जाने के साफ संकेत दिए.

मायावती ने इस दौरान कहा कि भाजपा के खिलाफ वे किसी भी पार्टी से हाथ मिलाने को तैयार हैं. बसपा सुप्रीमो ने साथ ही कहा कि जहर को जहर से ही काटा जा सकता है. गौरतलब है कि यूपी में बड़ी हार के बाद भाजपा को हराने के लिए पार्टियों में महागठबंधन बनाने के सुर उठे हैं.

भाई आनंद कुमार को बनाया बसपा का उपाध्यक्ष

11 मार्च को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे आए थे. बसपा को केवल 19 सीटों पर जीत मिली थी. जबकि 2012 के चुनाव में बसपा ने 80 सीटों पर जीत हासिल की थी. बसपा ने 100 से ज्यादा मुस्लिमों को टिकट दिया था. नतीजे आने के ठीक बाद मायावती ने आरोप लगाया था कि मुस्लिम बहुल इलाकों में ईवीएम को मैनेज करने की वजह से उनकी हार हुई है.

ईवीएम में छेड़छाड़ का मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मसले पर चुनाव आयोग को नोटिस जारी करते हुए 8 मई तक जवाब मांगा है. वहीं 16 पार्टियों के प्रतिनिधियों ने गुरुवार को इस मुद्दे पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की थी.

इस बीच अंबेडकर जयंती पर मायावती ने बड़ा एलान करते हुए अपने छोटे भाई आनंद कुमार को बसपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त किया है. बसपा के खाते में करोड़ों रुपये जमा करने को लेकर आनंद कुमार ईडी जांच के दायरे में हैं. साथ ही आरोप है कि नोएडा में कई रियल एस्टेट प्रोजेक्ट में कथित तौर पर आनंद कुमार ने निवेश किया है. 

First published: 14 April 2017, 13:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी