Home » उत्तर प्रदेश » nazia khan nominated as a special police officer of agra police by up dgp
 

सलाम: बच्ची को बदमाशों के चुंगल से बचाने वाली नाजिया बनीं स्पेशल पुलिस ऑफीसर

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 March 2018, 16:16 IST

उत्तर प्रदेश सरकार ने गुरुवार को महिला सशक्तिकरण को सम्मानित किया. जिसमें शौर्य और वीरता के लिए देश में अपना नाम रोशन करने वाली आगरा की नाजिया खान को स्पेशल पुलिस ऑफिसर नियुक्त किया गया है. यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने उन्हें स्पेशल पुलिस ऑफिसर की नियुक्ति दी.

इस दौरान महिला कल्याण विभाग की ओर से रानी लक्ष्मी बाई वीरता पुरस्कार और बेगम अख्तर पुरस्कार वितरण समारोह का अायोजन किया गया. इसमें 130 महिलाओ को सम्मान मिला. जिनमें 128 को रानी लक्ष्मी बाई वीरता पुरस्कार और 2 महिलाओं को बेगम अख्तर पुरस्कार से सम्मानित किया गया. इन महिलाओं में 98 महिला ग्राम प्रधान भी शामिल हैं.

कार्यकर्म में आगरा की नाजिया का खूब तारीफ हुई. क्योंकि नाजिया ने आगरा में एक बच्ची को अपहरण से बचाया साथ ही जुआ और सट्टे जैसे अवैध कामों को रोकने में अहम भूमिका निभाई. इसके लिए नाजिया को इसी साल वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

इससे पहले नाजिया को साल 2016 में उत्तर प्रदेश सरकार ने रानी लक्ष्मी वीरता पुरस्कार से नवाजा था. नाजिया को सामाजिक कार्यों के लिए समय-समय पर प्रशासन और सामाजिक संस्थाओं द्वारा सम्मानित किया जाता रहा है.

सीएम योगी ने भी नाजिया की प्रशंसा की. सीएम योगी ने कहा कि आगरा की एक लड़की नाजिया ने अपने एरिया में एक लड़की का अपहरण होने से बचा लिया, उसने वहां जुआ खेलने पर रोक लगा दी. हमें ऐसी बेटियों से सबक लेना चाहिये. सभी लोग मिल-जुलकर सामुदायिक भाव से कार्य करें. लोग कुछ समय के लिए निर्वाचित होते हैं मालिक नहीं होते हैं.

जुए और सट्टे के खिलाफ उठाई थी आवाज

नाजिया सामाजिक के लिए काम करती हैं. मंटोला इलाके में रहने वाली नाजिया ने इलाके में चल रहे जुए और सट्टे के अवैध व्यवसाय के खिलाफ आवाज उठाई. बता दें कि अगस्त 2015 में एक दिन नाजिया स्कूल से वापस घर जा रही थीं. रास्ते में नाजिया ने देखा कि दो बाइक सवार बदमाश एक 6 साल की बच्ची को बाइक पर बैठाने की कोशिश कर रहे हैं. आसपास खड़े लोगों ने कुछ नहीं किया. लेकिन नाजिया ने स्कूल बैग फेंका और बाइक सवारों से भिड़ गई.

नाजिया ने बच्ची की फ्राक पकड़ ली और उसे घसीटने लगी. जिससे बाइक सवार बदमाश गिर गए. नाजिया ने बच्ची को नहीं छोड़ा. बदमाशों ने उसके ऊपर हमला भी किया, लेकिन उसने हार नहीं मानी. इस बीच लोगों की भीड़ भी आ गई और मौका देख बदमाश फरार हो गए. नाजिया ने बच्ची को उसके घर सुरक्षित पहुंचा दिया.

First published: 29 March 2018, 16:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी