Home » उत्तर प्रदेश » NIA begins investigation of UP Assembly Explosives case
 

NIA ने यूपी विधानसभा विस्फोटक कांड की शुरू की तफ़्तीश

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 July 2017, 15:57 IST

उत्तर प्रदेश विधानसभा में सदन के भीतर विस्फोटक पदार्थ बरामद होने के बाद स्थानीय खुफिया एजेंसियों और अधिकारियों की नींद उड़ी हुई है. आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) के साथ राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की टीमें इस मामले की जांच करने में जुट गई हैं. एनआईए की टीम शुक्रवार देर रात विधानसभा पहुंची थी.

राजधानी लखनऊ के विधान भवन में विस्फोटक मिलने का मामला लखनऊ के हजरतगंज में स्थित कोतवाली में शुक्रवार शाम को दर्ज कराया गया है. एसएसपी दीपक कुमार के साथ विधानसभा के मार्शल मनीष चंद्र राय ने विस्फोटक पदार्थ मिलने के मामले में तहरीर दी है. इससे पहले एसएसपी ने विधानसभा के चीफ मार्शल मनीष चंद्र राय के साथ विधानसभा की सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण किया.

विस्फोटक की बरामदगी के मामले में मार्शल की तरफ से तहरीर पर केस दर्ज किया गया है. कोतवाली में धारा 16,18, 20 के तहत मामला दर्ज हुआ है. साथ ही इस मामले में धारा 121 ए और 120 बी के तहत भी मामला दर्ज किया गया है. विस्फोटक पदार्थ अधिनियम की धारा 4,5,6 भी लगाई गई है.

विधानसभा में विस्फोटक मिलने के बाद हर कोई हैरान है. विधानसभा की सुरक्षा में सेंध का यह सबसे बड़ा मामला है. सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि इतनी भारी सुरक्षा के बीच घातक विस्फोटक पीईटीएन विधानसभा में पहुंचा कैसे? इसे प्लास्टिक एक्सप्लोसिव के नाम से भी जाना जाता है, जिसकी 150 ग्राम की मात्रा एक कार को उड़ाने के लिए पर्याप्त है.

First published: 15 July 2017, 15:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी