Home » उत्तर प्रदेश » Nitish Kumar reunited with NDA Akhilesh Yadav mocked Bihar CM
 

अखिलेश यादव: करना था इनकार मगर इक़रार तुम्हीं से कर बैठे

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 July 2017, 10:42 IST
पीटीआई/ फ़ाइल फोटो

बिहार की राजनीति में बुधवार का दिन सियासी बवंडर लेकर आया. नीतीश कुमार की चार साल बाद एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) में वापसी हुई है. महागठबंधन से नाता तोड़ने के बाद नीतीश ने गुरुवार सुबह दस बजे छठी बार बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है. उनके इस क़दम पर यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने निशाना साधा है.

अखिलेश यादव ने नीतीश पर तंज कसते हुए कहा है कि अपने पुराने सहयोगी के साथ अलगाव वे बर्दाश्त नहीं कर सके. अखिलेश ने ट्विटर पर हिंदी फिल्म के एक पुराने गाने के जरिए नीतीश पर हमला बोला.

'न न करते प्यार तुम्हीं से कर बैठे'

अखिलेश यादव ने ट्वीट में लिखा, "न न करते, प्यार तुम्हीं से कर बैठे, करना था इनकार मगर इक़रार तुम्हीं से कर बैठे. आज का बिहार." बुधवार शाम को तकरीबन साढ़े छह बजे नीतीश कुमार ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया था. नीतीश ने डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के मामले में कड़ा कदम उठाते हुए 20 महीने पुराना महागठबंधन छोड़ दिया.

रेलवे होटल लीज मामले में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव के खिलाफ छापेमारी के बाद सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की थी. नीतीश ने इस मामले में तेजस्वी और लालू से सफ़ाई देने की अपील की थी. लेकिन लालू के रुख के बाद नीतीश ने महागठबंधन से अलग होने का फैसला कर लिया.

 

नीतीश के समर्थन में 129 विधायक

इस बीच राजभवन में सुबह दस बजे राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने नीतीश कुमार को राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई. उनके बाद भाजपा नेता सुशील मोदी ने शपथ ली. सुशील मोदी को डिप्टी सीएम की कुर्सी दोबारा मिली है. अब नीतीश को विधानसभा में बहुमत साबित करना होगा. माना जा रहा है कि भाजपा के समर्थन से नीतीश आसानी से शक्ति परीक्षण में पास हो जाएंगे.

फ्लोर टेस्ट 28 जुलाई को होगा. 243 सदस्यों वाली बिहार विधानसभा में जेडीयू के 71 और भाजपा के 53 विधायक हैं. इसके अलावा भाजपा की सहयोगी लोजपा के दो, आरएलएसपी के दो और हम के एक विधायक हैं. इस तरह नीतीश के पास कुल 129 विधायकों का समर्थन है, जबकि बहुमत के लिए 122 विधायकों की ज़रूरत है. सदन में राजद के 80 और कांग्रेस के 27 विधायक हैं. वहीं अन्य दलों के सात सदस्य हैं.

First published: 27 July 2017, 10:42 IST
 
अगली कहानी