Home » उत्तर प्रदेश » Digital Fraud: MD of socialtrade.biz website detained by STF in Noida sector 63
 

नोएडा: 7 लाख लोगों से 'डिजिटल' ठगी, 3700 करोड़ के घोटाले का STF ने किया पर्दाफाश

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 February 2017, 15:47 IST

नोएडा में एक बड़े चिटफंड घोटाले का पर्दाफाश करने का यूपी एसटीएफ ने दावा किया है. बताया जा रहा है सोशल ट्रेड के नाम से चलाई जा रही फर्जी कंपनी ने सात लाख लोगों से निवेश के जरिए 3700 करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा किया.   

बताया जा रहा है कि डिजिटल मार्केटिंग के नाम से फर्जी कंपनी लोगों को चूना लगा रही थी. खुफिया जानकारी मिलने के बाद यूपी एसटीएफ ने नोएडा के सेक्टर-63 इलाके के एफ ब्लॉक में कंपनी के दफ्तर पर छापा मारा.

एसटीएफ ने कंपनी के तीन अफसरों को हिरासत में लिया है. ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर कोतवाली में इस सिलसिले में केस दर्ज कराया गया था. नोएडा के फेज थ्री पुलिस स्टेशन में भी एक एफआईआर दर्ज कराई गई है. 

ऐसे हुआ फर्जीवाड़ा

बताया जा रहा है कि दो साल पहले अगस्त 2015 में डिजिटल मार्केटिंग के नाम पर एबलेज इंफो सॉल्यूशंस नाम से खोली गई थी. इस कंपनी को ग्रेटर नोएडा के कॉलेज से बीटेक करने वाले अनुभव मित्तल ने शुरू किया था.

अनुभव ने डिजिटल मार्केटिंग के नाम पर socialtrade.biz वेबसाइट बनाई. लोगों को इसके जरिए एक साल में निवेश की रकम दोगुनी करने का झांसा दिया गया. वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन के लिए एक लाख 15 हजार लोगों ने शुरुआती दौर में पैसा जमा किया. 

अनुभव मित्तल कंपनी का एमडी 

शुरू में मुनाफा होने के बाद जब कंपनी के बारे में फीडबैक मिलने लगा, तो इसमें निवेश करने वाले लोगों की तादाद छह लाख तक पहुंच गई. एसटीएफ ने सेक्टर 63 में छापे के दौरान कंपनी के एमडी अनुभव मित्तल को भी हिरासत में लिया है. 

शुुरुआती तफ्तीश में पता चला है कि कंपनी ने क़रीब 7 लाख लोगों से पोंजी स्कीम (चिटफंड) के तहत 3700 करोड़ रुपये से ज्यादा जमा कराए थे. 

एक क्लिक पर 5 रुपये

सोशल ट्रेड बिज पोर्टल से जुड़ने पर किसी शख्स को 5750 रुपये से लेकर 57,500 रुपये के बीच में कंपनी के खाते में जमा करना पड़ता था. इस पैसे के बदले हर सदस्य को हर क्लिक पर 5 रुपये घर बैठे मिलता था.

स्कीम के जरिए हर मेंबर को अपने नीचे 2 लोगों को जोड़ना जरूरी था, जिसके बाद और पैसे मिलते थे. कंपनी वर्चुअल वर्ल्ड में अपना नाम बदलकर धंधा परवान चढ़ा रही थी. पहले socialtrade.biz फिर freehub.com से intmaart.com से frenzzup.com और फिर 3W.com के नाम से इसका काला कारोबार फलता-फूलता रहा.

ऐसे हुआ खुलासा

जब कई सदस्यों को पैसे मिलना बंद हुए, तो उन्होंने नोएडा के फेज़-3 थाने और सूरजपुर थाने में केस दर्ज कराया. बैंक खातों की जांच से सामने आया है कि यह फर्जीवाड़ा 37 अरब रुपये का है.

एसटीएफ ने कंपनी की 500 करोड़ की रकम को ट्रैक करके सीज़ कर दिया है. नोएडा में इस फर्जीवाड़े के खुलासे से हड़कंप मच गया है. एसटीएफ की तफ्तीश में आगे भी चौंकाने वाले तथ्य सामने आ सकते हैं.

First published: 2 February 2017, 15:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी