Home » उत्तर प्रदेश » Non ISI mark helmets ban in Noida for bike and scooter riders
 

बाइक चलाते वक्त पहना 'काम चलाऊ' हेलमेट तो ट्रैफिक पुलिस की गिरेगी आप पर गाज, जानिए पूरी वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2019, 11:11 IST

हर साल सड़क दुर्घटनाओं में हजारों टू व्हीलर्स वालों की मौत हो जाती है. जिसकी सबसे बड़ी वजह बाइक या स्कूटर चलाते वक्त हेलमेट का प्रयोग नहीं करना भी है. वहीं कुछ लोग काम चलाऊ यानि लोकल हेलमेट पहन कर ही बाइक को लेकर चल देते हैं. ऐसे में ये भी उनकी जान के लिए खतरा पैदा करता है.

अब उत्तर प्रदेश सरकार ने ऐसे लोगों पर अंकुश लगाने जा रही है जो लोकल या फिर काम चलाऊ हेलमेट पहनकर ही बाइक चलाते हैं. इसके लिए यूपी सरकार ने अब बिना ISI मार्क बाले हेलमेट पहनने पर पूरी तरह से रोक लगा दी है. यही नहीं अगर कौई बिना ISI मार्क वाला हेलमेट चलाकर बाइक या स्कूटर चलाता है तो उसका चालान काटा जाएगा.

योगी सरकार ने इस नियम को सबसे पहले राज्य के गौतमबुद्ध नगर (नोएडा) जिले में यातायात को सुचारू और सुरक्षित बनाने के लिए लागू किया है. इसी के साथ अब अगर नोएडा में कोई बिना ISI मार्क वाला हेलमेट पहने मिलेगा तो उसका चालान काटा जाएगा.

RTO प्रवर्तन प्रशांत तिवारी का कहना है कि बाइक-स्कूटर चलाने वाले चालान से बचने के लिए 100-200 रुपये वाला सस्ता हेलमेट खरीद लेते हैं, लेकिन हादसे के वक्त यह पूरी तरह सुरक्षा नहीं पहुंचाता. उत्तर प्रदेश सरकार ने अब बिना ISI हेलमेट के इस्तेमाल करने वाले लोगों पर रोक लगा दी है. यदि कोई बाइक-स्कूटर सवार बिना ISI मार्क वाला हेलमेट पहने वाहन चलाता मिलता है तो उसका चालान काटा जाएगा.

तिवारी का कहना है कि सुरक्षित सफर के लिए अभी तक सिर्फ ओवरलोड गाड़ियों पर कार्रवाई हो रही थी, लेकिन अब यात्री वाहनों पर भी कार्रवाई की जाएगी. यही नहीं अब किसी वाहन में क्षमता से अधिक यात्री मिलते हैं तो उनका परमिट भी निरस्त किया जाएगा और वाहन मालिक से जुर्माना वसूला जाएगाबता दें कि दोपहिया वाहन चालकों की सुरक्षा के मद्देनजर नोएडा पुलिस पहले ही एक अहम कदम उठा चुकी है. जिसके तहत दोपहिया वाहन चालक बिना हेलमेट पहने पेट्रोल नहीं ले पा रहे हैं.

First published: 23 June 2019, 11:11 IST
 
अगली कहानी